Latest :
प्रत्‍यर्पण विधेयक को लेकर बैकफुट पर हांगकांग सरकार, ड्रैगन ने ली राहत की सांसजानिए क्या हैं Gratuity के नियम और कैसे करते हैं इसका कैलकुलेशनइस खिलाड़ी को बोर्ड ने एक साल के लिए किया बैन, वर्ल्ड कप में तोड़ा था अनुशासनहाथों में तिरंगा थामे Hina Khan ने 'India Day Parade' में ऐसे चलाया जादू,जीरकपुर में आफत की बारिश : घरों में भरा पानी, अगले दो दिन के लिए अलर्ट कांग्रेस को बडा़ झटका, हुड्डा ने पकड़ी अलग राह, बोले- अतीत से हुआ मुक्‍त, पहले वाली कांग्रेस नहीं रही, भटकी राहकई रातें जागकर श्रद्धा ने सीखे अपने तेलुगु डायलॉग्स, प्रभास ने भी की मददतेज बारिश से अजमेर में ढहा मकान, पुष्कर के डूब क्षेत्र में खाली कराए होटलइंग्लैंड के लिए बुरी खबर, टीम को पहला विश्व कप जिताने वाले मॉर्गन छोड़ेंगे कप्तानी !ढाई माह के बाद शुरू हुआ मत्स्य आखेट, पहले दिन पकड़ी गई 22 मीट्रिक टन मछली
Haryana

हरियाणा में विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा ने खेला दलित व पिछड़ा कार्ड

May 31, 2019 01:52 PM

Star Khabre, Delhi; 31st May : लोकसभा का चुनावी रण फतेह करने के बाद अब हरियाणा के विधानसभा चुनावों में मिशन-72 की तैयारी में जुटी भाजपा ने केंद्रीय मंत्रिमंडल के जरिये दलित और पिछड़ा कार्ड खेला है। पार्टी के रणनीतिकारों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में जातिगत व राजनीतिक समीकरणों पर फोकस करते हुए जिन तीन मंत्रियों को जगह दी, वह अपनी बिरादरी के कद्दावर चेहरे हैं। केंद्र सरकार में पहली बार उत्तरी हरियाणा को शामिल कर भाजपा ने अपना गढ़ मजबूत करने की रणनीति अपनाई।

विधानसभा चुनाव से पहले हरियाणा में भाजपा ने साधे जातिगत व राजनीतिक समीकरण
मोदी मंत्रिमंडल में राज्य मंत्री के रूप में शपथ लेने वाले रतन लाल कटारिया दलित तो राव इंद्रजीत सिंह और कृष्ण पाल गुर्जर पिछड़ा वर्ग से हैं। भाजपा ने नए मंत्रिमंडल के जरिये न केवल दलित और पिछड़ा वर्ग को लुभाने का पासा फेंका, बल्कि किसी नए चेहरे के बजाय पुराने धुरंधरों पर भरोसा जताते हुए साफ कर दिया कि सरकार में चलेगी पुराने भाजपाइयों की ही। साथ ही उत्तर से लेकर दक्षिण हरियाणा तक के नुमाइंदों को मंत्रिमंडल में जगह देकर हर हिस्से को साधने की कोशिश की। कैबिनेट में शामिल हुए पूर्व सेनाध्यक्ष वीके सिंह भले ही दूसरे राज्य के प्रतिनिधि के तौर पर सरकार में शामिल हुए, लेकिन भिवानी क्षेत्र में उनका खासा प्रभाव है।

पीएम मोदी ने पुराने साथियों पर  जताया भरोसा, दलितों में पैठ बनाने को कटारिया चेहरा
लोकसभा चुनाव में भाजपा क्लीन स्वीप करते हुए सभी दस सीटों पर चुनाव जीत गई, लेकिन कई लोकसभा क्षेत्र ऐसे हैं जहां बूथ स्तर पर भाजपा को बहुत कम वोट मिले। दलितों के वोट कांग्रेस तथा लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी व बहुजन समाज पार्टी के खाते में भी ट्रांसफर हुए हैं। विधानसभा चुनाव में यह वोट बैंक भाजपा से न छिटके, इसके लिए रतन लाल कटारिया को मोदी मंत्रिमंडल में स्थान दिया गया है।

कटारिया लगातार दूसरी बार सांसद बने हैं। उन्होंने अंबाला से कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्री और पूर्व कैबिनेट मंत्री कुमारी सैलजा को हराया। इसके अलावा वह संघ के पुराने कार्यकर्ता हैं और वाजपेयी सरकार के समय में भी सांसद रह चुके हैं। कटारिया के जरिये उत्तरी हरियाणा को केंद्र में प्रतिनिधित्व मिल गया। 
राव इंद्रजीत दक्षिण हरियाणा के कद्दावर नेता 
मोदी सरकार में दूसरी बार शामिल हुए राव इंद्रजीत सिंह दक्षिण हरियाणा की राजनीति में कद्दावर नेता माने जाते हैं। अहीरवाल की सियासत करने वाले राव इंद्रजीत लगातार चौथी बार संसद में पहुंचे हैं, जबकि अभी तक पांच बार सांसद बन चुके। राव इंद्रजीत को मंत्री बनाकर दक्षिण हरियाणा को प्रतिनिधित्व दिया गया है। दिलचस्प बात यह है कि राव इंद्रजीत लगातार तीन साल से केंद्र में मंत्री बनते आ रहे हैं। वह पिछली मोदी सरकार में भी मंत्री थे और उससे पहले कांग्रेस की मनमोहन सरकार में भी। 
कृष्णपाल गुर्जर के विरोधी हुए पस्त
भाजपा में ही अपने विरोधियों के तमाम अड़ंगों के बावजूद केंद्रीय मंत्रिमंडल में स्थान बनाने में कामयाब रहे फरीदाबाद के सांसद कृष्ण पाल गुर्जर पहले भी मंत्री रह चुके हैं।  मोदी व शाह के दरबार में इनकी पकड़ मजबूत है। हरियाणा के कई सांसद उनका रास्ता रोकने में लगे हुए थे, लेकिन जातीय और क्षेत्रीय समीकरणों  तथा निजी संबंधों के बल पर वह फिर से केंद्र में मंत्री बनने में कामयाब हो गए।

 
Have something to say? Post your comment
More Haryana

कांग्रेस को बडा़ झटका, हुड्डा ने पकड़ी अलग राह, बोले- अतीत से हुआ मुक्‍त, पहले वाली कांग्रेस नहीं रही, भटकी राह

पुलिस कर सकती है अहम खुलासा, आरोपी इंस्पेक्टर अभी भी 4 दिन की रिमांड पर

विधानसभा चुनाव से पहले आज जाटलैंड में रैली करने पहुंचेंगे गृहमंत्री अमित शाह

पत्नी के अंतिम संस्कार में शामिल हुए ओपी चौटाला, पिता-पुत्र को मिली दो हफ्ते की पैरोल

चौटाला परिवार को फिर एक करने के अधूरे सपने संग विदा हो गईं स्‍नेहलता

खट्‌टर ने कहा, मंगल पांडे तय समय से 11 दिन पहले गोली न चलाता तो 90 साल पहले ही हम आजाद हो जाते

स्वतंत्रता दिवस, परेड व रिहर्सल में बहाया बच्चों ने पसीना

मना करने पर भी टीचर गलत तरीके से छूता था, छात्राओं के बयान पर जेल भेजा गया

प्रेमी को बुलाकर पत्नी ने कराई थी पति की हत्या, वारदात से पहले बेड में छिपाया था हत्यारोपी प्रेमी

खाना खाकर सो चुका था परिवार; खबर आई कि सुषमा बहनजी नहीं रहीं... हाथ जोड़कर रो पड़े बड़े भाई

 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech