Latest :
जल्द शुरू होगी संजय-आयुष की गैंगस्टर ड्रामा मूवी, महत्वपूर्ण रोल में बॉबी देओल भी आएंगे नजरफाइनल में बाउंड्री काउंट नियम पर सचिन ने कहा- एक और सुपर ओवर होना चाहिए थाकुछ दिनों पहले बेची थी करोड़ों की जमीन, 15 दिन से अपहरणकर्त्ता कर रहे थे रेकीकिडनैप कर चलती गाड़ी में चाचा के सामने भतीजी से रेप, रास्ते में फेंक गएसेंसेक्स में 163 अंक की बढ़त, निफ्टी 49 प्वाइंट चढ़कर 11600 के ऊपर पहुंचाऋतिक और टाइगर का एक्शन पैक्ड वॉर, सामने आई मोस्ट अवेटेड फिल्म की पहली झलकविंडीज दौरे के लिए टीम इंडिया का चयन 19 जुलाई को, कोहली-बुमराह को आराम मिल सकता हैआदि गोदरेज ने कहा- देश में असहिष्णुता बढ़ने से आर्थिक विकास को नुकसान हो सकता है'साकी साकी' का री-क्रिएट देख भड़कीं कोइना मित्रा, बोलीं- गाने को बर्बाद कर दियाइंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच फाइनल आज, ये हो सकती हैं दोनों टीमों की प्लेइंग 11
Chandigarh

सरकार ने Private colonizers को बड़ी राहत, छोटी जमीनों पर भी विकसित हो सकेंगी कालोनियां

June 26, 2019 11:50 AM

Star Khabre, Chandigarh; 26th June : मनोहर सरकार ने प्राइवेट कालोनियों के लिए नियमों में बदलाव कर प्राइवेट कालोनाइजरों को बड़ी राहत दी है। राज्य सरकार ने अब छोटे-छोटे प्लाट्स पर भी कालोनी विकसित करने को मंजूरी प्रदान कर दी। इसका फायदा यह होगा कि राज्य के लोगों को मकानों के लिए अधिक मशक्कत नहीं करनी पड़ेगी तथा रियल एस्टेट बिजनेस को बढ़ावा मिलने के साथ ही प्राइवेट कालोनाइजरों को लाभ पहुंचेगा।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में बदले हुए नियमों को मंजूरी दी गई। हरियाणा सरकार ने प्रदेश को हाइपर, उच्च, मध्यम और निम्न चार जोन में बांट रखा है। हाइपर जोन में गुरुग्राम, फरीदाबाद और पंचकूला आते हैं, जबकि उच्च जोन में कई बड़े शहरों और मध्यम में बीच के शहरों तथा निम्न में कस्बानुमा छोटे शहरों को शामिल किया गया है।

मंत्रिमंडल ने दीनदयाल जनआवास योजना के विस्तार को भी हरी झंडी दी है। अभी तक आवासीय प्लाटेड कॉलोनियों के लिए हाइपर और उच्च जोन में 100-100 एकड़ जमीन होने की शर्त थी। अब हाइपर जोन में 25 और उच्च जोन में 20 एकड़ जमीन पर भी कालोनी विकसित करने के लिए लाइसेंस मिलेंगे। इसी तरह से मध्यम जाने वाले शहरों में कालोनी के लिए तय 15 और निम्न के लिए 10 एकड़ की शर्त को पहले जैसा ही रखा है।

फ्लैट्स वाली कालोनियों के लिए तय मानदंड भी बदले गए हैं। सरकार अब हाइपर जोन के लिए 5 एकड़, उच्च के लिए 4 एकड़, मध्यम के लिए दो एकड़ और निम्न के लिए एक एकड़ जमीन पर कालोनी विकसित करने के लिए लाइसेंस जारी करेगी। इससे पहले यह हाइपर एवं उच्च के लिए 10-10 एकड़, मध्यम के लिए दो एकड़ और निम्र के लिए एक एकड़ था।

एकीकृत औद्योगिक लाइसेंसिंग नीति के लिए क्षेत्र मानदंडों को हाइपर जोन के लिए 25 एकड़, उच्च के लिए 20 एकड़, मध्यम के लिए 15 एकड़ और निम्र के लिए 10 एकड़ तक संशोधित किया गया है। इससे पहले हाइपर जोन एवं उच्च के लिए 50-50 एकड़, मध्यम के लिए 25 एकड़ और निम्न के लिए 15 एकड़ जमीन होने की शर्त थी।

नई एकीकृत लाइसेंसिंग नीति के क्षेत्र मानदंड हाइपर जोन के लिए 15 एकड़, उच्च के लिए 10 एकड़, मध्यम के लिए 5 एकड़ और निम्न के लिए 2 एकड़ तक संशोधित किए गए हैं। पुराने नियमों में हाइपर एवं उच्च के लिए 25-25 एकड़, मध्यम के लिए 15 एकड़ और निम्न के लिए कम से कम 10 एकड़ जमीन होनी जरूरी थी।

 

 
Have something to say? Post your comment
More Chandigarh

किडनैप कर चलती गाड़ी में चाचा के सामने भतीजी से रेप, रास्ते में फेंक गए

मामा ही बना हैवान, चार साल की मासूम भांजी से किया बलात्कार

हरियाणा सरकार ने टीचरों का बढ़ाया वेतन

पांच हजार करोड़ रुपये की मुनाफाखोरी का खेल है गुरुग्राम भूमि घोटाला

हरियाणा में घिरी कांग्रेस : एक और जमीन अधिग्रहण मामले में हुड्डा के खिलाफ मामला दर्ज, रणदीप सिंह सुरजेवाला को नोटिस

चावल घोटाला: हरियाणा में 94 राइस मिलर्स ब्लैकलिस्ट, FIR के बाद अब गिरेगी ऐसी गाज

हरियाणा में कांग्रेस के दिग्गजों में छि़ड़ी लड़ाई, भाजपा ले रही आनंद

मोरनी में युवती से 40 लोगों के दुष्‍कर्म का मामला गर्माया, राहुल गांधी का ट्वीट- संसद में उठाएंगे

कैप्टन अभिमन्यु के परिवार को जिंदा जलाना चाहती थी भीड़

हरियाणा के 95 अफसरों के खिलाफ होगी चार्जशीट

 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech