Latest :
सोनल गोयल ने किया शाखाओं का औचक निरीक्षण, 6 कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारीपार्कों में लगने वाले धौलपुर स्टोन का भूमि पूजन।शेयर बाजार फिर गिरावट की ओर, 250 से ज्यादा अंक लुढ़का सेंसेक्सक्रिकेट के बाद अब कपिल देव शुरू करेंगे नई पारी चैम्पियंस गोल्फ टूर्नामेंट में लेंगे भागपेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन का आरोप, चंडीगढ़ के डीलर्स अवैध तरीके से कर रहे पेट्रोल की सप्लाईढाई साल की अंजलि को बेल्जियम के परिवार ने लिया गोद, कहा- अब कंप्लीट हुआ परिवारसलमान खान के पीछे-पीछे सेरेमनी में पहुंचा कुत्ता, सोशल मीडिया यूजर्स दे रहे मजेदार रिएक्शनप्रदेश में अलगे दो दिन भारी बारिश का अलर्ट, मौमस विभाग ने जारी किया येलो अलर्टक्लर्क पद की परीक्षा के मद्देनजर धारा- 144 मनोहर लाल ने जो कहा उसे पूरा किया : कृष्ण पाल
National

प्रत्‍यर्पण विधेयक को लेकर बैकफुट पर हांगकांग सरकार, ड्रैगन ने ली राहत की सांस

August 19, 2019 12:06 PM

Satr Khabre, Faridabad; 19th August : हांगकांग सरकार द्वारा विवादित प्रत्‍यर्पण विधेयक की वापसी और प्रदर्शनकारियों पर पुलिस की हिंसक कार्रवाई की जांच के आश्‍वासन के बाद यहां चल रहा हिंसक प्रदर्शन रविवार को शां‍त रहा। हालांकि, प्रदर्शनकारियों की ओर से आंदोलन खत्‍म करने के कोई संकेत नहीं मिले हैं न ही प्रदर्शनकारियों की इस पर कोई प्रतिक्रिया ही आई है। लेकिन हांगकांग में कई सप्‍ताह से जारी हिंसक प्रदर्शन शांत रहा। इस खबर से हांगकांग और चीन सरकार ने जरूर राहत की सांस ली होगी।

उधर, हांगकांग के नेता कैरी लैन चेंग ने कहा कि प्रदर्शनकारियों की प्रमुख मांगे मान ली गई है। एक सरकारी प्रवक्‍ता के हवाले से कहा गया है कि वह जल्‍द ही प्रदर्शनकारियों की मांगों के साथ वार्ता की जाएगी। उन्‍होंने कहा शांति और सामाजिक सद्भभाव के लिए सरकार जनता के साथ ईमानदारी के साथ बातचीत करेगी। इस बीच रविवार को सिविल ह्यूमन राइट्स फ्रंट के आयोजकों ने कॉसवे बे से लेकर सेंट्रल तक एक मार्च का आयोजन किया। ह्यूमन राइट्स फ्रंट का अनुमान है इस शांतिपूर्ण मार्च में लाखों लोगों ने हिस्‍सा लिया 

प्रदर्शन के खिलाफ चीन ने किया सेना को अलर्ट

गुरुवार को हांगकांग की सीमा से महज सात किलोमीटर की दूरी पर स्थित शेनझेन शहर के एक बड़े स्पो‌र्ट्स स्टेडियम में हजारों चीनी सैनिकों ने परेड की थी। चीन के विशेष सुरक्षा बल पीपुल्स आ‌र्म्ड पुलिस (PAP) के जवानों के साथ कई बख्तरबंद वाहन भी इस परेड में देखे गए। इस परेड को स्वायत्तशासी हांगकांग में लोकतंत्र के समर्थन में हो रहे विरोध प्रदर्शनों से जोड़कर देखा जा रहा है। यह माना जा रहा है कि दस हफ्तों से जारी विरोध प्रदर्शनों को थामने के लिए चीन दखल दे सकता है।

इन प्रदर्शनों से एशिया के प्रमुख वित्तीय केंद्र में कामकाज पूरी तरह ठप है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स के प्रमुख संपादक हू शिजिन ने कहा, शेनझेन में सेना की मौजूदगी इस बात का संकेत है कि चीन हांगकांग में दखल की तैयारी कर रहा है। अगर हांगकांग में प्रशासन के खिलाफ चल रहे विरोध प्रदर्शन नहीं रुके तो चीन किसी भी वक्त सेना को कार्रवाई के लिए वहां भेज सकता है।

 
Have something to say? Post your comment
More National

प्रदेश में अलगे दो दिन भारी बारिश का अलर्ट, मौमस विभाग ने जारी किया येलो अलर्ट

पीड़िता बोली- बच्चों की तरह बीमारी का बहाना बना रहे चिन्मयानंद, एसआईटी पर भरोसा नहीं रहा

आवास बोर्ड की जमीन-मकान के लीजधारी अब बनेंगे मालिक, अवैध छोटे निर्माण भी हो जाएंगे वैध

कोटा-झालावाड़ में बाढ़ से हालात, मुख्यमंत्री प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे करेंगे

80% फसलें बर्बाद लेकिन सर्वे में बरती जा रही लापरवाही, नुकसान का आकलन करने के लिए नहीं गई टीम

मुठभेड़ में दो इनामी नक्सली ढेर सुबह जनअदालत में नक्सलियों ने ग्रामीण को मुखबिरी के शक में मार डाला

बादाम के 250 पौधे खाने पर पुलिस ने दो बकरियों को पकड़ा

आफत बनी बारिश, अधिकांश बांधों के गेट खुले, नदी-नाले उफान पर, सागर में बिजली गिरने से 28 गायों की मौत

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को लेकर अटकलें तेज, नहीं हो पाई सिंधिया की सोनिया गांधी से मुलाकात

कलेक्टर को हटाने के लिए पांचों विधायकों ने सीएम को लिखा पत्र, समस्याओं का समाधान नहीं करने का आरोप

 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech