Latest :
रिद्धिमा ने शेयर की पिता की यादें, कभी कन्यादान करते तो कभी नातिन समारा के साथ खेलते दिखे ऋषि कपूरआडवाणी, उमा, कल्याण की नहीं हो पाई गवाही, वकील की दलील- लॉकडाउन की वजह से सबसे नहीं हो पाया संपर्क; अगली सुनवाई 4 जून को होगीसोने के वायदा भाव में गिरावट, चांदी भी टूटी, जानिए क्या चल रही हैं कीमतेंसमझ नहीं आता सारे लोग धौनी के पीछे क्यों पड़े हैं, जब संन्यास लेना हुआ तो बताएंगे'1 दिन में 75 नए केस; 64 फरीदाबाद, गुड़गांव, सोनीपत व पलवल से, मास्क न पहनने और सार्वजनिक स्थान पर थूकने पर 500 रु. जुर्मानाहाईवे पर कंपनी ने सर्विस रोड का काम तेज किया, जल्द मिलेगी राहतविद्या बालन की अबतक की सबसे बोल्ड तस्वीर हुई वायरल, देखकर आपके भी उड़ जाएंगे होशमिचेल स्टार्क बोले- IPL में खेलने के लिए ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को कोई समस्या नहीं हैसरकार और आरबीआई की यह कोशिश है की डांवाडोल हो रही अर्थव्यवस्था को पटरी पर फिर से कैसे लाया जाए- एसबीआई एमडीराजस्थान, मध्यप्रदेश समेत पूरे मध्य भारत में गर्मी का टॉर्चर, इस बार भी नाैतपा में बूंदाबांदी के आसार
National

चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग इसी महीने भारत आएंगे, मोदी के साथ चेन्नई में दूसरी अनौपचारिक बैठक करेंगे

October 02, 2019 12:02 PM

Star Khabre, Faridabad; 2nd October : चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग अक्टूबर के दूसरे हफ्ते में भारत आने वाले हैं। चेन्नई के पास महाबलीपुरम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शी जिनपिंग के बीच दूसरी बार अनौपचारिक बैठक होगी। इससे पहले चीनी अफसरों ने कहा था कि इस दौरान दोनों नेताओं के बीच कश्मीर मुद्दे पर कोई चर्चा नहीं होगी। मोदी और जिनपिंग क्या चाहते हैं, ये बात उन्हीं पर छोड़ देना चाहिए। पिछले साल अप्रैल में चीन के वुहान में मोदी और जिनपिंग के बीच पहली अनौपचारिक बैठक हुई थी।

इससे पहले चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा था, ‘‘मुझे नहीं लगता है कि कश्मीर इस मुलाकात के एजेंडे में शामिल होगा, क्योंकि यह एक अनौपचारिक शिखर सम्मेलन होगा। हम कश्मीर को भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मुद्दे के रूप में देखते हैं। हमें उम्मीद है कि दोनों देशों के बीच मैत्रीपूर्ण और शांतिपूर्ण बातचीत से इस मुद्दे को हल कर लिया जाएगा। चीन संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर मुद्दे पर बैठक बुला चुका है

चीन ने पाकिस्तान के सहयोग से पिछले महीने कश्मीर मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र में गुप्त बैठक बुलाई थी। इसमें चीन समेत सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्य (पी 5) और 10 अस्थायी सदस्य शामिल हुए थे, लेकिन यह बैठक बिना किसी परिणाम के ही समाप्त हो गई थी। तब ज्यादातर देश भारत के साथ खड़े रहे थे।

वुहान में मोदी ने जिनपिंग को भारत आने का न्योता दिया था

वुहान में मोदी ने जिनपिंग को भारत आने का न्योता दिया था। साथ ही कहा था कि दोनों देशों के बीच अनौपचारिक बैठक की परंपरा बन जाए तो मुझे खुशी होगी। कश्मीर मुद्दे को लेकर दोनों देशों के बीच थोड़ी खटास जरूर आई है। लेकिन, उम्मीद जताई जा रही है कि इस दौरान दोनों देशों के नेता आपसी सहयोग को बढ़ाने पर जोर देंगे।

 
Have something to say? Post your comment
More National

आडवाणी, उमा, कल्याण की नहीं हो पाई गवाही, वकील की दलील- लॉकडाउन की वजह से सबसे नहीं हो पाया संपर्क; अगली सुनवाई 4 जून को होगी

राजस्थान, मध्यप्रदेश समेत पूरे मध्य भारत में गर्मी का टॉर्चर, इस बार भी नाैतपा में बूंदाबांदी के आसार

जनता कर्फ्यू के दिन भी शाहजमाल धरना जारी, महिलाएं नहीं मानीं

कोरोना का खौफ: मस्जिदों में लपेटी गईं चटाइयां, लोगों से घर पर नमाज पढ़ने की अपील

संसद पहुंचे पूर्व चीफ जस्टिस गोगोई, आज राज्यसभा सदस्य के रूप में लेंगे शपथ

निर्भया केसः जेल कर्मचारियों को बनाया दोषी, कपड़े बदलकर फांसी घर तक ले गए, फिर हुआ डमी ट्रायल

लापरवाही : तीन दिन दिल्ली में बदलता रहा होटल, राजधानी एक्सप्रेस से भुवनेश्वर पहुंचा कोरोना

यूपी के 11 जिलों में सिनेमा हॉल, मल्टीप्लेक्स, स्विमिंग पूल, क्लब, डिस्को और जिम 31 मार्च तक बंद

राजस्थान में ट्रक और जीप की टक्कर में 11 लोगों की मौत, तीन घायल

थोड़ी देर में राज्यपाल से मिलेंगे कमलनाथ, राज्यसभा के लिए नामांकन भरने जाएंगे ज्योतिरादित्य सिंधिया

 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech