Latest :
तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ की ये एक्ट्रेस बनने वाली हैं मां, बेबी शावर Photos वायरलजानें योगी आदित्यनाथ क्यों बोले- अंग्रेजों की देन नहीं है वर्तमान भारतIND vs SA: तीसरा टेस्ट मैच रांची में लेकिन धोनी कहां हैं?PMC बैंक में 6500 करोड़ से ज्यादा का घोटाला, रिकॉर्ड से 10.5 करोड़ कैश गायब: जांच टीमकैप्टन की सबसे ज्यादा 93 करोड़ संपत्ति बढ़ी तो किरण चौधरी की दौलत में 19 करोड़ की आई कमीसिर150 टांके और 4 जगह से टूटी थी हड्‌डी, 7 महीने कोमा में रहे, पत्नी की सेवा से फिर पैरों पर खड़े हुए ब्लॉक फॉरेस्ट ऑफिसरवॉर ने बनाया कमाई का एक और रिकॉर्ड सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्मों में हुई शामिलसेंसेक्स 104 अंक चढ़कर 38700 के ऊपर, निफ्टी 11480 पर पहुंचाकरतारपुर कॉरिडोर जाने वालों के लिए चंडीगढ़, पंजाब और हरियाणा में लगेंगे पासपोर्ट मेलेपानीपत और बहादुरगढ़ में अमित शाह बोले- देश में कांग्रेस का मतलब है दरबारी, दामाद और दलाल
National

चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग इसी महीने भारत आएंगे, मोदी के साथ चेन्नई में दूसरी अनौपचारिक बैठक करेंगे

October 02, 2019 12:02 PM

Star Khabre, Faridabad; 2nd October : चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग अक्टूबर के दूसरे हफ्ते में भारत आने वाले हैं। चेन्नई के पास महाबलीपुरम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शी जिनपिंग के बीच दूसरी बार अनौपचारिक बैठक होगी। इससे पहले चीनी अफसरों ने कहा था कि इस दौरान दोनों नेताओं के बीच कश्मीर मुद्दे पर कोई चर्चा नहीं होगी। मोदी और जिनपिंग क्या चाहते हैं, ये बात उन्हीं पर छोड़ देना चाहिए। पिछले साल अप्रैल में चीन के वुहान में मोदी और जिनपिंग के बीच पहली अनौपचारिक बैठक हुई थी।

इससे पहले चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा था, ‘‘मुझे नहीं लगता है कि कश्मीर इस मुलाकात के एजेंडे में शामिल होगा, क्योंकि यह एक अनौपचारिक शिखर सम्मेलन होगा। हम कश्मीर को भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मुद्दे के रूप में देखते हैं। हमें उम्मीद है कि दोनों देशों के बीच मैत्रीपूर्ण और शांतिपूर्ण बातचीत से इस मुद्दे को हल कर लिया जाएगा। चीन संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर मुद्दे पर बैठक बुला चुका है

चीन ने पाकिस्तान के सहयोग से पिछले महीने कश्मीर मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र में गुप्त बैठक बुलाई थी। इसमें चीन समेत सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्य (पी 5) और 10 अस्थायी सदस्य शामिल हुए थे, लेकिन यह बैठक बिना किसी परिणाम के ही समाप्त हो गई थी। तब ज्यादातर देश भारत के साथ खड़े रहे थे।

वुहान में मोदी ने जिनपिंग को भारत आने का न्योता दिया था

वुहान में मोदी ने जिनपिंग को भारत आने का न्योता दिया था। साथ ही कहा था कि दोनों देशों के बीच अनौपचारिक बैठक की परंपरा बन जाए तो मुझे खुशी होगी। कश्मीर मुद्दे को लेकर दोनों देशों के बीच थोड़ी खटास जरूर आई है। लेकिन, उम्मीद जताई जा रही है कि इस दौरान दोनों देशों के नेता आपसी सहयोग को बढ़ाने पर जोर देंगे।

 
Have something to say? Post your comment
More National

जानें योगी आदित्यनाथ क्यों बोले- अंग्रेजों की देन नहीं है वर्तमान भारत

करवा चौथ आज, पतियों की लंबी उम्र के लिए सुहागिनों के लिए 14 घंटे का व्रत शुरू

अयोध्या केस: जानिए अबतक की सुनवाई में हिंदू बनाम मुस्लिम पक्ष की कुछ अहम दलीलें

कल मामले की अंतिम सुनवाई; हिंदू पक्ष की दलील- बाबर की ऐतिहासिक भूल को सुधारने की जरूरत

होशंगाबाद के पास कार पलटने से हॉकी के 4 राष्ट्रीय खिलाड़ियों की मौत, 3 की हालत गंभीर

पाकिस्तान के किसी भी आतंकी हमले का जवाब देने के लिए वायुसेना तैयार

बापू के विचारों को जन-जन तक पहुंचाने के लिए निकलेगी 39;गांधी विचार यात्रा 39 कंडेल से आज होगा शुभारंभ

रायसेन के पास बस पुल की रेलिंग तोड़कर नदी में गिरी; 7 लोगों की मौत; रात एक बजे हुआ हादसा

CM कुर्सी पर शिवसेना की नजर, संजय राउत बोले- चंद्रयान 2 लैंड नहीं कर पाया लेकिन सीएम दफ्तर पहुंचेंगे आदित्य ठाकरे

एयरफोर्स चीफ बनते ही बोले भदौरिया- राफेल के कारण चीन-PAK पर भारी पड़ेंगे हम

 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech