Latest :
दीपिका पादुकोण के फोन में इस नाम से सेव है रणवीर सिंह का नंबर, चैट के स्क्रीनशॉट से हुआ खुलासाSoftbank को अरबों का घाटा, फिर भी इस भारतवंशी सीईओ को मिला दोगुना वेतन, जानें पूरा ब्योरारद हो सकती है भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टी20 सीरीज, अक्टूबर में टीम इंडिया करेगी दौरादिल्ली से लगते जिलों में बढ़ते कोरोना पेशेंट को लेकर बॉर्डर सील, बड़ी संख्या में लोग हुए परेशानचंडीगढ़ में पारा गिरकर 32 डिग्री पर आया, आंधी-बारिश से बरनाला में बच्चे पर दीवार, संगरूर में महिला छत से गिरी, दोनों की मौतट्रेन के लिए गाइडलाइन जारी, रवाना होने से 30 मिनट पहले प्लेटफॉर्म पर खड़ी होगी ट्रेनगोल्ड मेडल विजेता बॉक्सर फिलहाल कर रहा है खेत में कामBOI और कर्नाटक बैंक पर RBI ने लगाया जुर्माना, क्या थी गलती?अनुष्का शर्मा ने दी 'पाताल लोक' के किरदारों पर सफाई , बोलीं- 'हमने क्रिमिनल्स को दयावान बताने की कोशिश नहीं की, सिर्फ नजरिया दिया है'532 किलो हेरोइन बरामदगी मामले में दूसरी चार्जशीट दायर, पाक व अफगानिस्तान से जुड़े हैं तस्करी के तार
National

प्रदेश में धान खरीदी आज से, 85 लाख मीट्रिक टन का लक्ष्य, पहले दिन से ही 1815 का पेमेंट

December 01, 2019 11:38 AM

Star Khabre, Faridabad; 1St December : छत्तीसगढ़ में आज से धान खरीदी शुरू हो रही है। प्रदेश की 2048 केन्द्रों में 1815 आैर 1835 रुपए की दर पर धान खरीदी 15 फरवरी तक की जाएगी।  इस साल 54 नए खरीदी केन्द्र बनाए गए हैं। जबकि 48 मंडियों एवं 76 उपमंडियों के प्रांगण का उपयोग भी खरीदी के लिए किया जाएगा। सरकार द्वारा घोषित 25सौ रुपए मेे से अंतर की राशि किसानों को अलग से जाएगी। हालांिक 1815 रुपए का पेमेंट रविवार से ही होने लगेगा।

खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने धान खरीदी के लिए सभी जरूरी इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि किसानों को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो इसका ख्याल रखा जाए। सरकार ने इस साल 85 लाख मीट्रिक टन धान खरीदी का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए लगभग 4 लाख 25 हजार बारदानों की व्यवस्था की गई है। इनमें 2 लाख 70 हजार नए, जबकि शेष पुराने बारदानों  का उपयोग किया जाएगा।खरीदी केन्द्रों में कम्प्यूटर, प्रिंटर, स्कैनर के अलावा मॉयश्चर मशीन भी उपलब्ध कराई गई है। वहीं किसानों को परेशानी से बचाने के लिए सभी केन्द्रों में एक टाेल फ्री नंबर भी चस्पा किया गया है। बड़े किसानों के लिए अधिकतम पांच बार धान बेचने की परमिशन दी गई है। इस साल प्रदेश के 19 लाख 56 हजार किसानों ने धान बेचने के लिए अपना पंजीयन कराया है, जो कि पिछले साल की तुलना में दो लाख 58 हजार ज्यादा है। प्रदेश सरकार द्वारा किसानों को अंतर की राशि देने के लिए बनाई गई पांच मंंत्रियों की समिति तेलंगाना की रइत बंधु आैर आेडिशा की कादिया पॉलिसी का अध्ययन करेगी। समिति को दो महीने में रिपोर्ट सौपने के लिए कहा गया है। कमेटी आगामी बजट सत्र के पहले सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। सीएम भूपेश पहले ही कह चुके हैं कि किसाना को हर हाल में 25 सौ रुपए प्रतिक्विंटल की दर से भुगतान किया जाएगा। सरकार ने शीतकालीन सत्र के अनुपूरक बजट में 205 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है

 
Have something to say? Post your comment
More National

दिल्ली से लगते जिलों में बढ़ते कोरोना पेशेंट को लेकर बॉर्डर सील, बड़ी संख्या में लोग हुए परेशान

दिल्ली से सटी गुरुग्राम गाजियाबाद और नोएडा की सीमाएं सील, चेकिंग के चलते लगा लंबा जाम

आडवाणी, उमा, कल्याण की नहीं हो पाई गवाही, वकील की दलील- लॉकडाउन की वजह से सबसे नहीं हो पाया संपर्क; अगली सुनवाई 4 जून को होगी

राजस्थान, मध्यप्रदेश समेत पूरे मध्य भारत में गर्मी का टॉर्चर, इस बार भी नाैतपा में बूंदाबांदी के आसार

जनता कर्फ्यू के दिन भी शाहजमाल धरना जारी, महिलाएं नहीं मानीं

कोरोना का खौफ: मस्जिदों में लपेटी गईं चटाइयां, लोगों से घर पर नमाज पढ़ने की अपील

संसद पहुंचे पूर्व चीफ जस्टिस गोगोई, आज राज्यसभा सदस्य के रूप में लेंगे शपथ

निर्भया केसः जेल कर्मचारियों को बनाया दोषी, कपड़े बदलकर फांसी घर तक ले गए, फिर हुआ डमी ट्रायल

लापरवाही : तीन दिन दिल्ली में बदलता रहा होटल, राजधानी एक्सप्रेस से भुवनेश्वर पहुंचा कोरोना

यूपी के 11 जिलों में सिनेमा हॉल, मल्टीप्लेक्स, स्विमिंग पूल, क्लब, डिस्को और जिम 31 मार्च तक बंद

 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech