Latest :
जेवर एयरपोर्ट के लिए काटे जाएंगे 6000 पेड़वर्ल्ड टूर के पहले दौर में ही हारीं पीवी सिंधु, जापान की यामागुची ने 68 मिनट में जीता मैचहाईकोर्ट ने निपटाई सपना चौधरी के खिलाफ दर्ज एफआईआर रद्द करने की याचिका, जानें मामलाराहुल द्रविड़ की फैन हैं दीपिका पादुकोण, कहा- वो मेरे ऑल टाइम फेवरेट क्रिकेटर हैंजेल में बंद गैंगस्टर जग्गू ने कहा- मेरा एनकाउंटर कर देगी पुलिस अमृतसर जेल में करा दें शिफ्टसेंसेक्स में 149 अंक की तेजी, निफ्टी 42 प्वाइंट चढ़कर 11950 के ऊपर पहुंचाNSUI के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन और छात्रों पर लाठीचार्ज करना निंदनीय :- कृष्ण अत्रीलखनऊः सुबह चार बजे विधानसभा घेरने पहुंचे किसान, पानी की बौछारों से किया तितर-बितर, कई हिरासत मेंफास्टैग अनिवार्यता पर रोक से हाईकोर्ट का इनकार, कहा- मुश्किल होना रोक लगाने का आधार नहींबढ़त के साथ खुला बााजार, डॉलर के मुकाबले 70.89 के स्तर पर हुई रुपये की शुरुआत
Sports

बीसीसीआई एजीएम में सीएसी की नियुक्ति टली, गांगुली बोले- पूर्णकालिक समिति की जरूरत नहीं

December 02, 2019 10:49 AM

Star khabre, Faridabad ; 02nd December : बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने रविवार को कहा कि पूर्णकालिक क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) की जरूरत नहीं है क्योंकि इसे सीमित भूमिका ही निभानी होती है। उन्होंने कहा कि सीएसी की केवल एक या दो बैठक की आवश्यकता होती है। बीसीसीआई ने रविवार को सीएसी की नियुक्ति टाल दी और गांगुली ने कहा कि विवादास्पद हितों के टकराव का मुद्दा इसमें आड़े आ रहा है जिसे सीओए को भी लागू करना मुश्किल लगा था।

दिग्गज सचिन तेंडुलकर, वीवीएस लक्ष्मण और गांगुली को खुद सीएसी से इस्तीफा देना पड़ा था क्योंकि उन पर हितों के टकराव के आरोप लगे थे। गांगुली ने बोर्ड की एजीएम के बाद मीडिया से कहा, ‘सीएसी का ज्यादा काम नहीं है। हम सीएसी के बारे में बात करते रहते हैं, लेकिन इस समिति का काम चयनकर्ताओं और कोच की नियुक्ति करना है। इसलिए एक बार आप चयनसमिति नियुक्त कर लेते हो तो यह चार साल के लिए बरकरार रहती है और जब आप कोच नियुक्त करते हो तो वह तीन साल के लिए रहता है। इसलिए पूर्णकालिक सीएसी रखने की क्या जरूरत?’ उन्होंने कहा, ‘अभी तक यह सीएसी मानद पद है इसलिए अगर आप भुगतान भी करते हो तो आप किस आधार पर भुगतान करोगे। इसमें नियमित काम नहीं है। इसलिए सीएसी में हितों का टकराव है तो मुझे नहीं लगता कि यह बेहतर होगा या नहीं। इसमें केवल एक ही बैठक होती है।’ बीसीसीआई प्रमुख ने कहा कि वे हितों के टकराव के मुद्दे पर स्पष्टीकरण के लिए सुप्रीम कोर्ट का रूख करेंगे। उन्होंने कहा, ‘हितों का टकराव सभी को रोक रहा है, इसलिए हम सीएसी नहीं बना सकते और उचित चयनकर्ता नहीं ला सकते।’

गांगुली ने कहा, 'हम चयनकर्ताओं का कार्यकाल तय करेंगे। हर साल चयनकर्ताओं की नियुक्ति करना सही नहीं है।' भारतीय टीम ने पांच सदस्यीय पैनल के कार्यकाल के दौरान अच्छी सफलताएं हासिल कीं लेकिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कम अनुभव के कारण उन्हें लगातार आलोचनाओं का सामना करना पड़ता था।

 
Have something to say? Post your comment
More Sports

वर्ल्ड टूर के पहले दौर में ही हारीं पीवी सिंधु, जापान की यामागुची ने 68 मिनट में जीता मैच

श्रीलंका के कप्तान ने कहा- मिकी ऑर्थर का साथ होना फायदेमंद, उन्हें पाकिस्तान टीम की गहरी जानकारी

टॉप 3 बल्लेबाजों के भरोसे कब तक जीत का ख्वाब देखती रहेगी टीम इंडिया

विराट ने लपका शानदार कैच, मैच के बाद बोले- हाथ में फंस गई थी बॉल

टीम की जीत के लिए मुश्किल चुनौती का हिस्सा बनना चाहूंगा-दिनेश कार्तिक

India vs West Indies: विराट कोहली 12वीं बार बने मैन ऑफ द मैच, वर्ल्ड रेकॉर्ड बराबर

भारत-वेस्टइंडीज शृंखला में फ्रंट फुट नो बॉल का फैसला थर्ड अंपायर करेगा

सऊदी अरब में बन रही है दुनिया की पहली स्पोर्ट्स सिटी; यहां इस्लामिक कानून नहीं, पश्चिम जैसी आजादी

Ind vs WI T20 Series: कीरन पोलार्ड ने बताया भारत के खिलाफ क्या होगी कैरेबियाई टीम की रणनीति

दूध बेचकर बेटे को क्रिकेटर बनाने वाले पिता ने कहा- प्रियम खिताब जीतेगा तो सीना चौड़ा होगा

 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech