Latest :
रिद्धिमा ने शेयर की पिता की यादें, कभी कन्यादान करते तो कभी नातिन समारा के साथ खेलते दिखे ऋषि कपूरआडवाणी, उमा, कल्याण की नहीं हो पाई गवाही, वकील की दलील- लॉकडाउन की वजह से सबसे नहीं हो पाया संपर्क; अगली सुनवाई 4 जून को होगीसोने के वायदा भाव में गिरावट, चांदी भी टूटी, जानिए क्या चल रही हैं कीमतेंसमझ नहीं आता सारे लोग धौनी के पीछे क्यों पड़े हैं, जब संन्यास लेना हुआ तो बताएंगे'1 दिन में 75 नए केस; 64 फरीदाबाद, गुड़गांव, सोनीपत व पलवल से, मास्क न पहनने और सार्वजनिक स्थान पर थूकने पर 500 रु. जुर्मानाहाईवे पर कंपनी ने सर्विस रोड का काम तेज किया, जल्द मिलेगी राहतविद्या बालन की अबतक की सबसे बोल्ड तस्वीर हुई वायरल, देखकर आपके भी उड़ जाएंगे होशमिचेल स्टार्क बोले- IPL में खेलने के लिए ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को कोई समस्या नहीं हैसरकार और आरबीआई की यह कोशिश है की डांवाडोल हो रही अर्थव्यवस्था को पटरी पर फिर से कैसे लाया जाए- एसबीआई एमडीराजस्थान, मध्यप्रदेश समेत पूरे मध्य भारत में गर्मी का टॉर्चर, इस बार भी नाैतपा में बूंदाबांदी के आसार
Sports

बीसीसीआई एजीएम में सीएसी की नियुक्ति टली, गांगुली बोले- पूर्णकालिक समिति की जरूरत नहीं

December 02, 2019 10:49 AM

Star khabre, Faridabad ; 02nd December : बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने रविवार को कहा कि पूर्णकालिक क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) की जरूरत नहीं है क्योंकि इसे सीमित भूमिका ही निभानी होती है। उन्होंने कहा कि सीएसी की केवल एक या दो बैठक की आवश्यकता होती है। बीसीसीआई ने रविवार को सीएसी की नियुक्ति टाल दी और गांगुली ने कहा कि विवादास्पद हितों के टकराव का मुद्दा इसमें आड़े आ रहा है जिसे सीओए को भी लागू करना मुश्किल लगा था।

दिग्गज सचिन तेंडुलकर, वीवीएस लक्ष्मण और गांगुली को खुद सीएसी से इस्तीफा देना पड़ा था क्योंकि उन पर हितों के टकराव के आरोप लगे थे। गांगुली ने बोर्ड की एजीएम के बाद मीडिया से कहा, ‘सीएसी का ज्यादा काम नहीं है। हम सीएसी के बारे में बात करते रहते हैं, लेकिन इस समिति का काम चयनकर्ताओं और कोच की नियुक्ति करना है। इसलिए एक बार आप चयनसमिति नियुक्त कर लेते हो तो यह चार साल के लिए बरकरार रहती है और जब आप कोच नियुक्त करते हो तो वह तीन साल के लिए रहता है। इसलिए पूर्णकालिक सीएसी रखने की क्या जरूरत?’ उन्होंने कहा, ‘अभी तक यह सीएसी मानद पद है इसलिए अगर आप भुगतान भी करते हो तो आप किस आधार पर भुगतान करोगे। इसमें नियमित काम नहीं है। इसलिए सीएसी में हितों का टकराव है तो मुझे नहीं लगता कि यह बेहतर होगा या नहीं। इसमें केवल एक ही बैठक होती है।’ बीसीसीआई प्रमुख ने कहा कि वे हितों के टकराव के मुद्दे पर स्पष्टीकरण के लिए सुप्रीम कोर्ट का रूख करेंगे। उन्होंने कहा, ‘हितों का टकराव सभी को रोक रहा है, इसलिए हम सीएसी नहीं बना सकते और उचित चयनकर्ता नहीं ला सकते।’

गांगुली ने कहा, 'हम चयनकर्ताओं का कार्यकाल तय करेंगे। हर साल चयनकर्ताओं की नियुक्ति करना सही नहीं है।' भारतीय टीम ने पांच सदस्यीय पैनल के कार्यकाल के दौरान अच्छी सफलताएं हासिल कीं लेकिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कम अनुभव के कारण उन्हें लगातार आलोचनाओं का सामना करना पड़ता था।

 
Have something to say? Post your comment
More Sports

समझ नहीं आता सारे लोग धौनी के पीछे क्यों पड़े हैं, जब संन्यास लेना हुआ तो बताएंगे'

मिचेल स्टार्क बोले- IPL में खेलने के लिए ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को कोई समस्या नहीं है

पूर्व कीवी कोच ने मुंबई की खाली सड़कें देख जताई हैरानी, पीएम मोदी बोले- जनता तैयार है

कैसे तय समय पर होंगे ओलंपिक जब ज्यादातर क्वालिफाइंग टूर्नामेंट हो चुके हैं रद्द

कोरोना के साये के बीच हनुमा ने ठोका दोहरा शतक, काउंटी खेलने के लिए शुरू की तैयारी

कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच टी-20 विश्व कप समय पर होने की उम्मीद

कोरोना वायरसः अजरबैजान में फंसी भारतीय कुश्ती टीम, होटल में बंद हैं खिलाड़ी

क्रिकेटरों को अर्जुन अवार्ड लेने की फुरसत नहीं, ढाई साल से पुजारा तो एक वर्ष से जडेजा ने लटकाया

न्यूजीलैंड और KKR के तेज गेंदबाज फर्ग्यूसन ने दर्ज कराई शिकायत, होगी कोरोना की जांच

AUSvNZ: ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज केन की हुई कोरोना की जांच, हो सकते हैं सीरीज और IPL से बाहर

 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech