Latest :
नगर निगम के अनुसार शहर में चल रहे मात्र 7 गेस्ट हाऊसनहरपार बॉबी की बिल्डिंग, अवैध निर्माण न तोड़ने की 10 लाख में हुई डील : ऑफ़ द रिकार्डसांसे मुहिम पर्यावरण के क्षेत्र में लाएगी हरित क्रांति - विजय प्रतापवाहन चोरी करने वाले एक आरोपी को क्राईम ब्रांच एनआईटी ने किया गिरफतारसुशांत सिंह राजपूत के पिता से मिले हरियाणा मुख्यमंत्री मनोहर लालफाइनल ईयर की परीक्षा कराने का फैसला वापिस ले यूजीसी : नीरज कुंदनके० एल० महत्ता दयानंद पब्लिक सी० सै० स्कूल नंबर 1, नेहरू ग्राउंड के विद्यार्थियों ने 12वीं के रिजल्ट में लहराया परचमजल्द से जल्द धार्मिक स्थलों को खोलने की इजाज़त दे सरकार : संजय भाटियाभोले-भाले लोगों को ठगने वाले एक शातिर गिरोह का खुलासाफरीदाबाद पुलिस ने जनहित में साईबर फ्रॉड से बचने के लिए जारी की एडवाइजरी
Business

TCS की बड़ी पहल, LGBT कर्मियों के पार्टनर्स को भी देने लगी इंश्योरेंस पॉलिसी, लिंग परिवर्तन के लिए भी 2 लाख रुपये

December 07, 2019 10:54 AM

Star Khabre, Faridabad; 07th December : देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी टाटा कंसल्टंसी सर्विसेज (टीसीएस) ने लैंगिक समानता के प्रयास के तहत अपने समलैंगिक कर्मचारियों के पार्टनर्स को भी हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी देगी। सिर्फ यही नहीं, अगर ऐसे कर्मचारी अपना सर्जरी के जरिए अपना लिंग परिवर्तन (सेक्स/जेंडर रीअसाइनमेंट सर्जरी) करवाने की लागत की आधी रकम कंपनी ही देगी जो अधिकतम दो लाख रुपये तक हो सकती है। लैंगिक समानता की दिशा में यह बड़ा कदम उठाने वाली टीसीएस, टाटा समूह की पहली कंपनी हैं। कंपनी में 4 लाख कर्मचारी पेरोल पर हैं अपने कर्मचारियों को भेजे गए ई-मेल में TCS ने कहा है कि नए बदलावों से LGBT (लेजबियन, गे, बाइसेक्सुअल तथा ट्रांसजेंडर) कर्मचारियों को फायदा होगा। कंपनी की नई हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में 'स्पाउस' की जगह 'पार्टनर' शब्द का इस्तेमाल किया गया है, जिसके कारण समलैंगिक पार्टनरों को इंश्योरेंस कवर देने का रास्ता साफ हो चुका है।

कुछ कंपनियां लिव-इन पार्टनर को दे रही यह सुविधा

 

कुछ प्रगतिशील कंपनियां समलैंगिक पार्टनरों को पहले से ही मेडिकल कवर/फैमिली हेल्थ इंश्योरेंस की सुविधा उपलब्ध करा रही हैं, जिनमें आरबीएस इंडिया, सिटी बैंक, कैपजेमिनी इंडिया सहित कई अन्य कंपनियां शामिल हैं। इनमें से कुछ कंपनियों ने तो लिव-इन पार्टनर को भी पॉलिसी का लाभ मुहैया कराया है।
लिंग परिवर्तन कराने को 2 लाख रुपये देगी कंपनी

टीसीएस के ग्लोबल डायवर्सिटी हेड प्रीति डी'मेलो ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा कि नई पॉलिसी को बीते सप्ताह औपचारिक प्रारूप दिया गया। अब स्पाउस की परिभाषा में समलैंगिक पार्टनरों को भी शामिल किया जाएगा, जिसमें उनकी वैवाहिक स्थिति कोई मायने नहीं रखेगी। नई पॉलिसी के तहत सर्जरी करवाकर लिंग चेंज कराने में आने वाली लागत का 50% (अधिकतम 2 लाख रुपये) इंश्योरेंस द्वारा कवर किया जाएगा।
दूसरी तिमाही में टीसीएस का मुनाफा 1.80% बढ़कर 8,042 करोड़ रुपये

व्यक्ति का सम्मान कंपनी के मूल्यों में से एक

डी'मेलो ने कहा, 'किसी भी व्यक्ति का सम्मान टीसीएस के अहम मूल्यों में से एक है और इसी मूल्य के तहत हमने LGBTQ+ के समावेशन का सफर बरकरार रखा है। हम ऐसा संगठन बनाने में विश्वास रखते है जहां हर कोई खुद को समावेशित और सम्मानित महसूस करता हो। हम अपने यहां माहौल को पारदर्शी और सबके अनुकूल बनाना चाहते हैं।' उन्होंने यह भी कहा कि कंपनी को लिंग परिवर्तन कराने के लिए सर्जरी का एक आवेदन भी मिल चुका है।

 
Have something to say? Post your comment
More Business

Coca Cola अगले 30 दिन तक सोशल मीडिया पर नहीं देगी विज्ञापन, जानें क्या है इस फैसले की वजह

पिछले दिनों में हुए Income Tax से जुड़े ये 6 बदलाव, जिन्हें जानना आपके लिए है जरूरी

ब्राजील से ठुकराए जाने के बाद अब भारत में वाट्सऐप पे लॉन्च करने का रास्ता साफ!

जानिए प्रवासी मजदूरों को वापस लाने के लिए अब क्या-क्या पापड़ बेल रही हैं कंपनियां

सोने-चांदी के वायदा भाव में गिरावट, वैश्विक कीमतें भी लुढ़कीं, जानिए क्या हैं दाम

केवल नारे से नहीं चलेगा काम, डोकलाम के बाद चीन से दवा आयात 28% बढ़ा

पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार 14वें दिन बढ़ोत्तरी, जानें आपके शहर में क्या हो गए हैं रेट

चांदी की कीमतों में गिरावट, साेना और हुआ महंगा, जानें 19 जून का ताजा भाव

PM Modi ने लॉन्‍च की कोयला खानों की नीलामी, बोले- भारत COVID संकट को अवसर में बदलेगा

ट्रेन में किसी ने छोड़ दीं 14.48 करोड़ रुपये के सोने की ईंटें, नौ महीने से नहीं आया कोई दावेदार

 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech