Latest :
पीजीआई हॉस्पिटल की 5वीं मंजिल पर स्थित कैंटीन से उठी लपटें, फायर टीम ने आग पर काबू पायामशहूर एक्ट्रेस की बेटी ने कहा- मैं कार्तिक आर्यन संग कर सकती हूं बेड शेयरएसटीएफ ने भारी मात्रा में चरस की बरामद, एक आरोपी गिरफ्तार, दो फरारजेडीएस नेता और पूर्व राज्य मंत्री अमरनाथ शेट्टी का 80 साल की उम्र में निधनसरकार एयर इंडिया की 100% हिस्सेदारी मैनेजमेंट कंट्रोल के साथ बेचेगी, 17 मार्च तक बोलियां मांगीभारतीय टीम पहली बार न्यूजीलैंड के खिलाफ लगातार दो टी-20 जीती, दूसरे मैच में 7 विकेट से हरायाखराब दौर से उबर सकते हैं ऋषभ पंत, कपिल देव ने दिया वापसी का मंत्रलॉन्च हुआ '83' का फाइनल मोशन पोस्टर, बॉलीवुड के 'कपिल' की पूरी टीम से यहां मिलिएFastag के बाद आ गया फास्टलेन, अब पेट्रोल पंप पर भुगतान करना होगा आसानअवैध निर्माणः पांच मौतों के बाद लोगों ने लगाया आरोप, निगम की कोताही हादसे की वजह
Chandigarh

फास्टैग अनिवार्यता पर रोक से हाईकोर्ट का इनकार, कहा- मुश्किल होना रोक लगाने का आधार नहीं

December 11, 2019 10:38 AM

Star khabre, Faridabad ; 11th december : केंद्र सरकार द्वारा फास्टैग को अनिवार्य करने और फास्टैग लेन में बिना टैग प्रवेश पर दोगुना फीस के प्रावधान पर रोक लगाने से हाईकोर्ट ने इनकार कर दिया है। हाईकोर्ट ने याचिका खारिज करते हुए कहा कि किसी को मुश्किल हो रही है यह किसी प्रावधान को रद्द करने का आधार नहीं हो सकता।

पेशे से वकील कंवरजीत सिंह ढिल्लों और गुरमनप्रीत सिंह ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करते हुए इसे अनिवार्य करने को चुनौती दी है। याचिका में हाईकोर्ट को बताया गया कि 2014 में नेशनल हाईवे एक्ट में संशोधन कर टोल पर फास्टैग लाइन को शामिल करने का निर्णय लिया गया।

इसी दौरान यह निर्णय लिया गया कि बिना टैग वाली लाइन को यदि टैग लाइन में ले जाया जाएगा तो उससे दो गुना फीस वसूली जाएगी। इसके बाद अब देश भर में 15 दिसंबर से फास्टैग अनिवार्य किया जा रहा है। याची ने दलील देते हुए कहा कि नेशनल हाईवे एक्ट में केंद्र सरकार को हाईवे के लिए फीस निर्धारित करने का अधिकार है लेकिन कोई जुर्माना लगाने का नहीं।

दो गुना फीस फास्टैग केलिए लगाना एक प्रकार से जुर्माना ही है और ऐसे में यह गलत है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि देश में डिजिटल लिट्रेसी रेट कम है जिसके कारण लोगों को ट्रैकका इस्तेमाल करने में परेशानी होगी। हाईकोर्ट ने याचिका खारिज करते हुए कहा कि केवल किसी को परेशानी होगी यह किसी प्रावधान को रद्द करने का आधार नहीं हो सकता।

कोर्ट ने याची को कहा कि देश की प्रगति का हिस्सा बने और परिवर्तन को अपनाएं।

 
Have something to say? Post your comment
More Chandigarh

पीजीआई हॉस्पिटल की 5वीं मंजिल पर स्थित कैंटीन से उठी लपटें, फायर टीम ने आग पर काबू पाया

लंग कैंसर से बचाने वाले डॉ. बेहरा को पद्मश्री अवॉर्ड, 10 हजार मरीजों का कर चुके हैं इलाज

खेमका की सीएम को चिट्‌ठी- आईपीएस को बैकडोर से पीएस नहीं बना सकते, यह गैर कानूनी

संजय की जेब से मिली चिट्‌ठी, लिखा था-'अनिल विज जी, पुलिस काम नहीं करती, मरने के बाद परिवार को तंग न करना...

मां का हाथ छोड़ सड़क पर आया 4 साल का बच्चा, तेज रफ्तार कार के नीचे आया, मौत

बीरेंद्र सिंह का राज्यसभा से इस्तीफा मंजूर, 2 सीटें खाली हुईं, तीसरी अप्रैल में होगी

शिकायतकर्ता के पक्ष में रिपोर्ट बनाने के लिए एएसआई ने मांगी 20 हजार की रिश्वत, विजिलेंस ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया

फाॅसवेक चेयरमैन ने कहा- शहर के प्रशासक और सांसद को विकास के कार्यों में रफ्तार लानी होगी, स्वच्छता रैंकिंग में फिसलना शर्मनाक

फेक बिलिंग की तो इनपुट क्रेडिट होगा ब्लाॅक, बिना केस ही गिरफ्तार किए जाएंगे जीएसटी रजिस्टर्ड डीलर

'गुंडा टैक्स' इकट्‌ठा करवाने वाली पंजाब पुलिस ने अब माइनिंग माफिया के 'गुंडों' से हरियाणा पुलिस को पिटवाया

 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech