Latest :
भोले-भाले लोगों को ठगने वाले एक शातिर गिरोह का खुलासाफरीदाबाद पुलिस ने जनहित में साईबर फ्रॉड से बचने के लिए जारी की एडवाइजरी COVID-19 के खतरे को शिक्षा के नए मॉडल में बदलने पर चर्चाफाइनल ईयर के छात्रों की परीक्षा कराने का फैसला छात्र विरोधी, जल्द वापिस ले भाजपा सरकार : कृष्ण अत्रीNSUI ने किया ऑनलाइन एडमिशन पोर्टल लांचUGC को परीक्षा पर पुनर्विचार करने का निर्देश, NSUI का मिला समर्थनचंडीगढ़ हाई कोर्ट पहुंचा हरियाणा परीक्षा परिणाम का मसलाCoca Cola अगले 30 दिन तक सोशल मीडिया पर नहीं देगी विज्ञापन, जानें क्या है इस फैसले की वजहइंग्लैंड जा रही पाकिस्तान की टीम, कब खेले जाएंगे मुकाबले पता नहीं, कोई कार्यक्रम नहीं हुआ जारीसिंगर ने कहा- एकता ने सुशांत को ब्रेक दिया था, उन्हें टार्गेट कैसे किया जा सकता है?
Chandigarh

जांच अधिकारी ने रिपोर्ट सबमिट की, इसे हादसा नहीं हत्या बताया, मकान मालिक और कॉन्ट्रैक्टर जिम्मेदार

March 18, 2020 10:31 AM

Star Khabre, chandigarh; 18th March : सेक्टर-32 के एक मकान में 22 फरवरी को आग लगी थी। मकान में अवैध तरीके से पेइंग गेस्ट चलाया जा रहा था। आग लगने से यहां रह रही तीन युवतियों की मौत हो गई थी। ये हादसा नहीं बल्कि हत्या है, क्योंकि जो रिपोर्ट अब एसडीएम साउथ ने डीसी को सबमिट की है, उसमें साफतौर पर कहा गया है कि इस मामले की जिम्मेदारी मकान मालिक की है, जिसने आगे रेंट पर ये मकान दिया। दूसरी जिम्मेदारी उस व्यक्ति या काॅन्ट्रेक्टर की है, जिसने इस मकान को किराए पर लिया और इसमें बिना रजिस्ट्रेशन के पेइंग गेस्ट खोल दिया। इसमें पार्टिशन करने के लिए वे चीजें यूज की गई, जो सबसे जल्दी आग पकड़ती हैं। 

इस पूरे मामले में सरकारी सिस्टम किस तरह से फेल रहा, उसको लेकर रिपोर्ट में कहा कि एसडीएम ने लिखा है कि इस हादसे के लिए बीट पुलिस ऑफिसर और इस्टेट ऑफिस के बिल्डिंग ब्रांच इंस्पेक्टर ने लापरवाही से काम किया, क्योंकि सही जानकारी आगे नहीं दी और बिल्डिंग ब्रांच ने बिल्डिंग बायलाॅज वायलेशन जो इस मकान में की गई थी, उसे इग्नोर किया। सब डिविजनल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) साउथ सतीश कुमार जैन ने अपनी फैक्ट फाइंडिंग इंक्वायरी रिपोर्ट डीसी बराड़ को दी है।

इस मामले के आने के बाद तीनों एसडीएम की प्रमुखता में तीन टीमें बनाई गई और शहर अवैध तरीके से चल रहे पेइंग गेस्ट को लेकर चेकिंग शुरू हुई। इसके बाद से अभी तक करीब 50 मकान मालिकों को उनके घरों में पेइंग गेस्ट चलाने के लिए प्रोविजनल लाइसेंस दिया गया है। इसका मतलब ये है कि तय टाइम पर अगर फायर क्लीयरेंस और आॅक्यूपेशन सर्टिफिकेट डाॅक्यूमेंट्स वे इस्टेट आॅफिस को जमा नहीं करवाते हैं तो उनका लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा।  

रिपोर्ट में लिखा, जिम्मेदारों ने की लापरवाही

मकान मालिक और जो व्यक्ति इसमें अवैध तरीके से पीजी चला रहा था, उसे जिम्मेदार ठहराया गया है। इन दोनों की जिम्मेदारी तय की गई है। कहा गया है कि सरकारी अफसर अगर सही तरीके से काम करते तो शायद ये नहीं हादसा होता और तीन युवतियों की जान नहीं जाती। इसके लिए रिपोर्ट में संबंधित बीट पुलिस ऑफिसर और इस्टेट ऑफिस के बिल्डिंग इंस्पेक्टर की लापरवाही को बताया गया है। रिपोर्ट में लिखा गया है कि पुलिस ऑफिसर ने जहां अथाॅरिटी को इस अवैध तरीके से चल रहे पेइंग गेस्ट को लेकर जानकारी नहीं दी। इसमें करीब 30 से ज्यादा बच्चे रह रहे थे, वहीं इस्टेट ऑफिस के बिल्डिंग ब्रांच के इंस्पेक्टर की भी उतनी ही लापरवाही इस मामले में है, क्योंकि मकान में बिल्डिंग बायलाॅज की वाॅयलेशन थी। इसे चेक ही नहीं किया गया या फिर चेक करने के बावजूद पूरी तरह से इग्नोर कर दिया गया। डिप्टी कमिश्नर मनदीप सिंह बराड़ ने इस बारे में कहा कि रिपोर्ट एसडीएम की तरफ से सब्मिट की गई है और जिनकी जिम्मेदारी या लापरवाही को लेकर इसमें कहा गया है उन सभी पर कार्रवाई की जाएगी। 
 

तारों में लगातार होता रहता था स्पार्क, लेकिन ठीक नहीं करवाई
रिपोर्ट में बताया गया है कि बिजली की तारों में लगातार स्पार्क होता रहता था लेकिन इसको ठीक नहीं करवाया गया और यही आग लगने का कारण भी था। कुछ कमरों के लिए एक ही एंट्री थी और जिस फ्लोर में आग लगी वहां पर पीवीसी को यूज किया गया था जिसके साथ लकड़ी को पार्टिशियन के लिए यूज किया गया था। इमरजेंसी में बाहर निकलने के लिए सही रास्ता नहीं था। 
 

एसडीएम ने रिपोर्ट में की ये सिफारिशें
फायर क्लीयरेंस लेेनी जरूरी, फ्लोर में पाॅलिसी के हिसाब से बच्चों को रखा जाए, जो बच्चों के लिए बेड लगाए जाएं, उनके बीच में ज्यादा ओपन स्पेस होना चाहिए, लकड़ी से पार्टिशन नहीं कर सकते। पीवीसी यूज न किया जाए और बोर्ड में पेइंग गेस्ट को लेकर लिखना जरूरी किया जाए। साथ ही हेल्पलाइन नंबर भी इनमें लिखे होने चाहिए। इसके अलावा जिन चीजों जैसे लकड़ी, प्लास्टिक, पीवीसी या बाकी में जल्दी आग लगती है, उन्हें पार्टिशिन के लिए या फिर बाकी चीजों के लिए यूज नहीं किया जाएगा।

 
Have something to say? Post your comment
More Chandigarh

पीजीआई में कोरोना संक्रमण का टेस्ट करने वाले डॉक्टरों में दिखे वायरस के लक्षण, 4 डॉक्टर समेत 16 क्वारैंटाइन

विनी महाजन बनीं पंजाब की नई चीफ सेक्रेटरी,पति दिनकर गुप्ता हैं डीजीपी पंजाब

नर्सिंग कॉलेजों की बड़ी पेशकश, कोरोना मरीजों के लिए दस हजार बेड देने का दिया ऑफर

जिन्होंने कारगिल में दुश्मन को चटाई धूल, वे प्लॉट के लिए लड़े 19 साल लंबी लड़ाई

चंडीगढ़ में मिले 5 कोरोना पॉजिटिव मरीज, दो डड्डूमाजरा से, दो खुड्डा अलीशेर से एक सेक्टर-50 से, संख्या पहुंची 421

पंजाब में कोरोना से एक और की मौत, 125 नए पॉजिटिव केस, 413 मरीज ठीक हुए

एफबी पर लाइव होकर कहा- पत्नी, दो सालियों और उनके पतियों ने मेरा घर बर्बाद कर दिया, मैं सुसाइड कर रहा हूं

शहर में सुबह-सुबह कोरोना का नया केस, 61 वर्षीय बुजुर्ग की रिपोर्ट पॉजिटिव

सेक्टर-25 कॉलोनी से 3, रामदरबार में आए दो केस, यहां कोरोना फैलने का खतरा ज्यादा, शहर में पॉजिटिवों की संख्या 376

चंडीगढ़ में कोरोना वायरस के तीन नए केस, एक्टिव केस बढ़कर 60 हुए

 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech