Latest :
भोले-भाले लोगों को ठगने वाले एक शातिर गिरोह का खुलासाफरीदाबाद पुलिस ने जनहित में साईबर फ्रॉड से बचने के लिए जारी की एडवाइजरी COVID-19 के खतरे को शिक्षा के नए मॉडल में बदलने पर चर्चाफाइनल ईयर के छात्रों की परीक्षा कराने का फैसला छात्र विरोधी, जल्द वापिस ले भाजपा सरकार : कृष्ण अत्रीNSUI ने किया ऑनलाइन एडमिशन पोर्टल लांचUGC को परीक्षा पर पुनर्विचार करने का निर्देश, NSUI का मिला समर्थनचंडीगढ़ हाई कोर्ट पहुंचा हरियाणा परीक्षा परिणाम का मसलाCoca Cola अगले 30 दिन तक सोशल मीडिया पर नहीं देगी विज्ञापन, जानें क्या है इस फैसले की वजहइंग्लैंड जा रही पाकिस्तान की टीम, कब खेले जाएंगे मुकाबले पता नहीं, कोई कार्यक्रम नहीं हुआ जारीसिंगर ने कहा- एकता ने सुशांत को ब्रेक दिया था, उन्हें टार्गेट कैसे किया जा सकता है?
National

निर्भया केसः जेल कर्मचारियों को बनाया दोषी, कपड़े बदलकर फांसी घर तक ले गए, फिर हुआ डमी ट्रायल

March 18, 2020 10:41 AM

Star Khabre, National; 18th March : निर्भया के दोषियों की फांसी में अब कुछ ही समय बचे हैं। इसी बीच बुधवार सुबह तिहाड़ जेल में पवन जल्लाद ने डमी के साथ फांसी का ट्रायल किया। इसके लिए मंगलवार शाम को जेल पहुंचते ही जल्लाद ने फांसी घर का मुआयना किया था, साथ ही दोषियों के गले का माप लिया था। इस बार हुए फांसी के ट्रायल के लिए जेल कर्मचारियों की मदद ली गई। जेल के चार कर्मचारियों को आज सुबह दोषियों की तरह की तैयार किया गया। फिर उनके साथ बाकी सारी प्रक्रिया की गई, जो फांसी के दिन दोषियों के साथ होगी। उन्हें निर्धारित समय के अंदर फांसी घर तक लाया गया, जिसके बाद जल्लाद ने असली दोषियों की डमी को फंदा पहनाया और फांसी दे दी।

मालूम हो कि निर्भया के चारों दोषी मुकेश सिंह, पवन गुप्ता, विनय शर्मा और अक्षय सिंह को 20 मार्च को फांसी होनी है। इसके लिए अस बार जल्लाद को फांसी की तारीख से तीन दिन पहले ही जेल बुलाया गया है। मंगलवार दोपहर बाद पवन जल्लाद मेरठ से जल्लाद तिहाड़ जेल पहुंच गया था। इससे पहले मंगलवार को भी मुकेश ने अपनी फांसी टालने के लिए एक दांव चला था, जो विफल रहा। मुकेश ने वकील एमएल शर्मा के माध्यम से हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। उसमें दावा किया गया था कि वह 17 दिसंबर 2012 को राजस्थान से गिरफ्तार हुआ था। वह तो वारदात वाले स्थल पर घटना के वक्त था भी नहीं। ऐसे में वह इस केस में दोषी नहीं है। हालांकि इस दलील को भी कोर्ट ने खारिज कर दिया है। 

वहीं दोषी मुकेश कुमार की मां ने भी मंगलवार को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) से उसकी फांसी की सजा पर रोक लगाने की गुहार लगाई थी। हालांकि अयोग ने इस मांग को यह कहते हुए नामंजूर कर दिया कि यह उसके अधिकार क्षेत्र से बाहर है।

इससे पहले दोषी मुकेश के वकील एपी सिंह ने एनएचआरसी से अपील की थी। उसके बाद उन्होंने पत्रकारों से कहा था कि हमने 20 मार्च की फांसी पर रोक लगाने की मांग की है, क्योंकि यह न्याय की हत्या है। 

जेल पहुंचते ही जल्लाद की हुई कोरोना जांच
निर्भया के चोरों दोषियों को फांसी के तख्ते पर चढ़ाने के लिए मंगलवार को तिहाड़ जेल पहुंचे जल्लाद को कोरोना जांच से गुजरना पड़ा। जेल के भीतर जाने से पहले उसकी थर्मल स्कैनर से जांच के साथ अन्य शारीरक जांच की गई। जेल के अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि जल्लाद पूरी तरह से स्वस्थ है।

 
Have something to say? Post your comment
More National

NSUI ने किया ऑनलाइन एडमिशन पोर्टल लांच

UGC को परीक्षा पर पुनर्विचार करने का निर्देश, NSUI का मिला समर्थन

दिल्ली में 31 जुलाई तक सभी स्कूल बंद रहेंगे, गुड़गांव में 3 महीने बाद अगले सप्ताह से माॅल खुलेंगे

अनंतनाग के बिजबेहड़ा में आतंकियों ने जवानों पर फायरिंग की, एक शहीद; एक बच्चे की भी जान गई

कांग्रेस ने विधान परिषद चुनाव के लिए बदला उम्मीदवार, तारिक अनवर की जगह समीर सिंह होंगे प्रत्याशी

पतंजलि की कोरोना दवा पर सरकार ने कहा- बाबा रामदेव ने देश को नई दवा दी, लेकिन पहले जांच होनी चाहिए; देश में अब तक 4.56 लाख केस

प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया- आगरा में 48 घंटे के भीतर 28 मरीजों की मौत; डीएम ने नोटिस जारी कर कहा- गलत हैं आंकड़े, 24 घंटे में खंडन करिए

कोरोना संक्रमितों और मौतों के मामले में देश में दूसरे नंबर पर पहुंची राजधानी दिल्ली

फिरोजाबाद में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर ट्रक से टकराई कार, दिल्ली से प्रयागराज जा रहे 5 लोगों की मौत

राजस्थान के जालोर में गिरा 2.78 किलो वजनी उल्कापिंड, 5 फीट की गहराई में जाकर जमीन में धंसा

 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech