Latest :
Corona virus : सुप्रीम कोर्ट का आदेश, 7 साल तक सजा पाए कैदियों को मिल सकती है पेरोलतमिल एक्टर और डायरेक्टर विसू का 74 की उम्र में निधन, लंबे समय से थे बीमारसेंसेक्स में 10फीसदी गिरावट की वजह से लोअर सर्किट लगा, 45 मिनट के लिए रुकी ट्रेडिंग, 10 दिन में दूसरी बारपूर्व कीवी कोच ने मुंबई की खाली सड़कें देख जताई हैरानी, पीएम मोदी बोले- जनता तैयार हैजनता कर्फ्यू के दिन भी शाहजमाल धरना जारी, महिलाएं नहीं मानींचंडीगढ़ में रविवार को एक ही पाॅजिटिव केस आया, 15 की रिपोर्ट नेगेटिवदो कैंसर पीड़िताें का बीमा कराया, दोनों की मौत के बाद फर्जी रिपोर्ट दिखाकर लिया 98 लाख का क्लेमनिर्भया के दोषियों को फांसी देकर उच्चतम न्यायालय ने किया न्याय : कृष्ण अत्रीकैसे तय समय पर होंगे ओलंपिक जब ज्यादातर क्वालिफाइंग टूर्नामेंट हो चुके हैं रद्दसेंसेक्स में 500 अंकों से ज्यादा की तेजी, निफ्टी 8,200 के स्तर से ऊपर
Business

अर्थव्यवस्था पर कोरोना का वार: एस एंड पी ने घटाया GDP ग्रोथ का अनुमान

March 18, 2020 10:50 AM

Star Khabre, business; 18th March : इससे पहले एजेंसी ने 2020 में भारत में 5.7 फीसदी की दर से विकास होने का अनुमान जताया था। इस  संदर्भ में एस एंड पी ने एक बयान में कहा कि 'दुनिया मंदी के दौर में प्रवेश कर रही' है।

एशिया-प्रशांत में पैदा होगी बड़ी मंदी
एस एंड पी ग्लोबल रेटिंग्स में एशिया प्रशांत के लिए प्रमुख अर्थशास्त्री शॉन रोशे ने कहा कि चीन में पहली तिमाही में बड़ा झटका, अमेरिका और यूरोप में शटडाउन और स्थानीय विषाणु संक्रमण के कारण एशिया-प्रशांत में बड़ी मंदी पैदा होगी।

इन देशों का भी घटाया विकास दर का अनुमान
एस एंड पी ने कहा, 'हम चीन, भारत और जापान में 2020 में होने वाले विकास के अनुमान को कम करके क्रमश: 2.9 फीसदी, 5.2 फीसदी और -1.2 फीसदी कर रहे हैं। पहले इन देशों के लिए अनुमान क्रमश: 4.8 फीसदी, 5.7 फीसदी, और -0.4 फीसदी जताया गया था।  

मूडीज ने भी घटाया था GDP ग्रोथ का अनुमान
इससे पहले को रेटिंग एजेंसी मूडीज इंवेस्टर्स सर्विस ने भी कोरोना वायरस के अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले असर को देखते हुए 2020 के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटाकर 5.3 फीसदी कर दिया था। मूडीज ने फरवरी में कहा था कि 2020 में भारत की जीडीपी 5.4 फीसदी की रफ्तार से वृद्धि कर सकती है। हालांकि यह भी पहले के 6.6 फीसदी के अनुमान से घटाया गया था। एजेंसी ने 2021 में भारत की आर्थिक वृद्धि दर 5.8 फीसदी रहने का अनुमान व्यक्त किया।

कोरोना वायरस का अर्थव्यवस्था पर होगा असर
एजेंसी ने मंगलवार को कहा था कि कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैलने का ठीक-ठाक आर्थिक असर होगा। प्रभावित देशों में इससे घरेलू मांग पर असर हो रहा है, आपूर्ति श्रृंखला बाधित हो रही है तथा एक देश से दूसरे देश में होने वाला व्यापार घट रहा है।

कई सरकारें और केंद्रीय बैंक उठा रहे कदम
मूडीज ने कहा, ‘‘कई सरकारों और केंद्रीय बैंकों ने वित्तीय राहत पैकेज, नीतिगत दर में कटौती, नियामकीय छूट समेत राहत के कई उपाय किए हैं। हालांकि वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए उठाये जाने वाले कदम इन उपायों के असर को कम कर देंगे।’’

इन क्षेत्रों पर पड़ेगा सबसे अधिक असर
कोरोना का उन कुछ मुख्य क्षेत्रों पर बुरा वित्तीय असर पड़ेगा, जो मुक्त आवाजाही पर निर्भर हैं। मूडीज के उपाध्यक्ष (वरिष्ठ क्रेडिट अधिकारी) बेंजामिन नेल्सन ने एक बयान में कहा, ‘‘व्यापार तथा लोगों की मुक्त आवाजाही पर निर्भर क्षेत्र जैसे यात्री विमानन, नौवहन, आतिथ्य सत्कार, रहना-ठहरना, क्रूज लाइनर, रेस्तरां आदि सबसे अधिक जोखिम में हैं।’’ अंतरराष्ट्रीय आपूर्ति श्रृंखला पर निर्भरता के कारण वैश्विक वाहन कंपनियां भी प्रभावित हो रही हैं। कुछ चुनिंदा भौगोलिक क्षेत्रों में खेल तथा खाद्य से इतर के खुदरा क्षेत्र भी आपूर्ति श्रृंखला पर निर्भर हैं, इस कारण ये भी प्रभावित हो रहे हैं।

2018-19 में थी 6.8 फीसदी 
2018-19 में विकास दर 6.8 फीसदी रही थी। इस हिसाब से देखा जाए तो फिर इसमें करीब 1.8 फीसदी की गिरावट है। विश्व की सभी रेटिंग एजेंसियों और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने भी भारत के जीडीपी अनुमान को काफी घटा दिया है।  मूडीज ने मार्च 2020 में समाप्त हो रहे वित्त वर्ष के लिए सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का अनुमान 5.8 फीसदी से घटाकर 4.9 फीसदी कर दिया है। फिच ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए विकास दर के 4.6 फीसदी रहने की संभावना जताई है। वहीं 2020-21 के लिए 5.6 फीसदी और 2021-22 के लिए 6.5 फीसदी का अनुमान जताया है।

 
Have something to say? Post your comment
More Business

सेंसेक्स में 10फीसदी गिरावट की वजह से लोअर सर्किट लगा, 45 मिनट के लिए रुकी ट्रेडिंग, 10 दिन में दूसरी बार

सेंसेक्स में 500 अंकों से ज्यादा की तेजी, निफ्टी 8,200 के स्तर से ऊपर

Sensex Today: बाजार में बढ़ा कोरोना का खौफ, सेंसेक्स में भारी गिरावट, निफ्टी 8000 के नीचे

बड़ी खबर: बुधवार से यस बैंक ग्राहकों के लिए शुरू हो जाएंगी सभी सुविधाएं

महामारी घोषित होने के बाद कोरोना मरीजों के स्वास्थ्य बीमा कवर पर कंपनियों में असमंजस

पेट्रोल-डीजल पर सरकार ने बढ़ाई एक्साइज ड्यूटी, जानिए आपके शहर में आज कितना हुआ दाम

क्यों 12 साल बाद शेयर बाजार में आया ऐसा दिन, 45 मिनट के लिए रोकनी पड़ी ट्रेडिंग?

कोरोना के कहर से सेंसेक्स ने लगाया 1,880 अंक का गोता, निफ्टी 9,900 से भी नीचे

खुशखबरः अप्रैल से मिलेगा बीएस-6 फ्यूल, इस नंबर पर करा सकते हैं सिलिंडर की बुकिंग

चौतरफा दबावों से शेयर बाजार चित, सेंसेक्स 1500 अंक गिरा, यस बैंक के शेयर में उछाल

 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech