Latest :
एनआईटी-1 मार्केट : क्या दुकानदारों को बचा पाएंगे महात्मा गांधीनगर निगम के अनुसार शहर में चल रहे मात्र 7 गेस्ट हाऊसनहरपार बॉबी की बिल्डिंग, अवैध निर्माण न तोड़ने की 10 लाख में हुई डील : ऑफ़ द रिकार्डसांसे मुहिम पर्यावरण के क्षेत्र में लाएगी हरित क्रांति - विजय प्रतापवाहन चोरी करने वाले एक आरोपी को क्राईम ब्रांच एनआईटी ने किया गिरफतारसुशांत सिंह राजपूत के पिता से मिले हरियाणा मुख्यमंत्री मनोहर लालफाइनल ईयर की परीक्षा कराने का फैसला वापिस ले यूजीसी : नीरज कुंदनके० एल० महत्ता दयानंद पब्लिक सी० सै० स्कूल नंबर 1, नेहरू ग्राउंड के विद्यार्थियों ने 12वीं के रिजल्ट में लहराया परचमजल्द से जल्द धार्मिक स्थलों को खोलने की इजाज़त दे सरकार : संजय भाटियाभोले-भाले लोगों को ठगने वाले एक शातिर गिरोह का खुलासा
Business

रिटायरमेंट के बाद शानदार लाइफ बितानी हो तो अभी से शुरू कर दें प्लानिंग

June 16, 2020 03:07 PM

Star Khabre, Business; 16th June : जब से देश में उदारीकरण हुआ है, कुछ मामलों में सरकार धीरे-धीरे अपना रोल सीमित करती जा रही है। इसलिये आज के हालात बदल गये हैं। इसका असर पूंजी बाजार पर भी दिखा है। इस समय बाजार में ब्याज दर घटते-घटते काफी कम हो गया है। बैंकों में एफडी का रेट 3 फीसदी से नीचे चला गया है। बाजार में बेईमान बॉरोअर्स, जालसाजों, भ्रष्ट लेंडर्स के बढ़ने के चलते रिटायर्ड इन्वेस्टर्स का भी रिस्क बढ़ गया है। ऐसे में रिटायरमेंट फंड ठीक ठाक बन सके, इसके लिए इन उपायों पर अमल करेंगे तो दिक्कत नहीं होगी।

रिटायरमेंट प्लनिंग में पीएफ खाते का अहम रोल

विशेषज्ञों का कहना है कि रिटायरमेंट प्लानिंग ऐसी हो, जिसमें हर तरह के साधनों का समावेश हो। कुछ पैसे कर्मचारी भविष्य निधि कोष में जमा करना जरूरी है क्योंकि आज की तारीख में सबसे ज्यादा ब्याज दर वहीं से मिलता है। यदि आपको लगता है कि आपके वेतन से कटने वाला पीएफ पर्याप्त नहीं है तो आप वालेंटरी प्रोविडेंट फंड (VPF) भी कटवा सकते हैं। इस पर भी उतना ही ब्याज मिलता है, जितना पीएफ (PF) पर।

इक्विटी प्लान भी चुन सकते हैं

यदि आपके पास वक्त है तो आप इक्विटी प्लान भी चुन सकते हैं। यह लांग टर्म ग्रोथ देने में बेहतर माना जाता है। इसके लिए पोर्टफोलियो का चुनाव सावधानीपूर्वक करना होता है। इसमें ऐसे शेयर शामिल करें जो पोर्टफोलियो को महंगाई के असर से बचाकर रख सकती है। बुजुर्गों के लिए यह कुशन का काम करती है। उन्हें तात्कालिक जरूरतें पूरी करने के लिए बहुत कम पैसों की जरूरत होती है, इसलिए बाकी पैसा बढ़ता रह सकता है।

रिटायर्डमेंट फंड में इक्विटी का रोल क्या होगा

रिटायर्ड लोगों को नियमित आमदनी की जरूरत होती है लेकिन ग्रोथ के लिए पोर्टफोलियो में रिस्की ऐसेट्स होने चाहिए। नियमित जरूरतों के लिए एक हिस्से को भुनाना होगा लेकिन उन्हें थोड़ी रकम की जरूरत होगी। ज्यादातर लोग हालांकि इस बात से डर जाते हैं कि शेयरों में गिरावट आने पर उनका कॉरपस घटेगा।

शानदार रिटायरमेंट का अर्थ

आमतौर पर लोग रिटायरमेंट फंड पर निर्भर होने से पहले रेंट, सेकेंड करियर, डिविडेंड जैसे इनकम के दूसरे सभी रास्ते आजमा लेते हैं। शानदार रिटायरमेंट वह होता है जिसमें पेंशन रिटायरमेंट कॉरपस पर प्रेशर बनने नहीं देता। इसके लिए पोर्टफोलियो में इक्विटी होना जरूरी है। इसके लिए लार्ज कैप म्यूचुअल फंड्स का सहारा लिया जा सकता है। ऐसे बैलेंस्ड फंड पर भी दांव लगाया जा सकता है जिसका कॉरपस मुख्य रूप से डेट में लगाया जाता है और सिस्टमैटिक ट्रांजैक्शन के जरिए निकासी होती

डायवर्सिफिकेशन जरूरी

जानकार बताते हैं कि रिटायर के बाद आमदनी बनी रहे, इसके लिए पोर्टफोलियो में इक्विटी को शामिल करना चाहिए। कॉरपस से बस जरूरत भर का पैसा निकालने की चाहत होनी चाहिए। ऐसी रकम कम होने पर रिस्क घटता है और बाकी पैसा बढ़ता है। साथ ही, रिटायरमेंट कॉरपस को छोड़ दूसरे स्रोत से इनकम आने पर इक्विटी इनवेस्टमेंट की कैपेसिटी बढ़ती है। इसके लिए ऐसेट ऐलोकेशन और डायवर्सिफिकेशन पर फोकस करना बेहद जरूरी है।

 
Have something to say? Post your comment
More Business

Coca Cola अगले 30 दिन तक सोशल मीडिया पर नहीं देगी विज्ञापन, जानें क्या है इस फैसले की वजह

पिछले दिनों में हुए Income Tax से जुड़े ये 6 बदलाव, जिन्हें जानना आपके लिए है जरूरी

ब्राजील से ठुकराए जाने के बाद अब भारत में वाट्सऐप पे लॉन्च करने का रास्ता साफ!

जानिए प्रवासी मजदूरों को वापस लाने के लिए अब क्या-क्या पापड़ बेल रही हैं कंपनियां

सोने-चांदी के वायदा भाव में गिरावट, वैश्विक कीमतें भी लुढ़कीं, जानिए क्या हैं दाम

केवल नारे से नहीं चलेगा काम, डोकलाम के बाद चीन से दवा आयात 28% बढ़ा

पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार 14वें दिन बढ़ोत्तरी, जानें आपके शहर में क्या हो गए हैं रेट

चांदी की कीमतों में गिरावट, साेना और हुआ महंगा, जानें 19 जून का ताजा भाव

PM Modi ने लॉन्‍च की कोयला खानों की नीलामी, बोले- भारत COVID संकट को अवसर में बदलेगा

ट्रेन में किसी ने छोड़ दीं 14.48 करोड़ रुपये के सोने की ईंटें, नौ महीने से नहीं आया कोई दावेदार

 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech