Latest :
फरीदाबाद की जनता का अपमान नही सहेगी एनएसयूआई : कृष्ण अत्रीभाजपा विधायक मूलचंद शर्मा की याचिका मंजूर, अपराधिक मामले में कोर्ट ने किया नोटिस जारीस्वामी पुरुषोत्तमाचार्य जी ने दिया राजेश नागर की बेटी को आशीर्वादस्टार खबरें सर्वे : लगभग 250 वोटरों से जानी उनकी रायहूं..मैं हरियाणा का मुख्यमंत्री हूं : बिना नंबर प्लेट बुलैट चलाना मेरी शानस्टार खबरें का सबसे बड़ा सर्वे : क्या कह रही है फरीदाबाद विस की जनता? जानने के लिए पढ़ेनगर निगम में बड़े पैमाने पर इंजीनियरों के तबादलेभूपेन्द्र सिंह हुड्डा के पैर की हड्डी टूटीअमित शाह के बेटे को भी बेचने चाहिए पकौड़े : कृष्ण अत्रीफरीदाबाद का सबसे बड़ा सर्वे : स्टार खबरें फरीदाबाद में करेगा अबतक का सबसे बड़ा सर्वे
Chandigarh

राज्य में फैली हिंसा को लेकर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने खट्टर सरकार को लताड़ा

August 26, 2017 01:22 PM

Star Khabre, Chandigarh; 26th August : साध्वी रेप केस में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सीबीआई कोर्ट की ओर से दोषी करार दिए जाने के बाद समर्थकों ने पंजाब, हरियाणा से लेकर दिल्ली तक गुंडागर्दी शुरू कर दी. लगातार पुलिस पर पथराव और गाडियों के जलाने की खबरें आईं. इसके बाद पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने इस पर बड़ा फैसला लेते हुए राम रहीम की संपत्ति को जब्त करने का आदेश दिया. आज फिर इस मामले पर हाई कोर्ट में सुनवाई शुरू हो गई है.

हाई कोर्ट ने कहा है कि अब डेरा सच्चा सौदा की पूरी प्रॉपर्टी सरकार के कब्जे में रहेगी और अब उन्हें अगले आदेश तक बेचा नहीं जा सकता. इस मामले पर मंगलवार को दोबारा सुनवाई होगी.

आज हाई कोर्ट ने बहुत ही साफ शब्दों में मैसेज दिया है कि जो भी कानून के खिलाफ काम करेगा उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

हाई कोर्ट ने ये भी पूछा है कि राम रहीम के काफिले को लेकर कोर्ट को क्यों गुमराह किया गया. सरकार ये भी जवाब दे कि राम रहीम के काफिले में पांच से ज्यादा गाड़ियों को क्यों जाने दिया गया.

हाई कोर्ट ने सरकार से कहा है कि उन लोगों की लिस्ट हाई कोर्ट को दी जाए जिन्होंने पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाया. उनकी संपत्ति कुर्क करके नुकसान की भरपाई की जाएगी.

हाई कोर्ट ने ये भी कहा कि जिन अफसरों ने धारा 144 के बावजूद लोगों को एक जगह इकट्ठा होने दिया उनके नाम बताएँ जाएँ

कल हुई हिंसा को लेकर हाई कोर्ट ने राज्य सरकार को लगाई फटकार, कहा- राजनीतिक फायदे के लिए सरकार ने ऐसा होने दिया.

हाईकोर्ट ने कल पुलिस से राम रहीम की संपत्तियों का ब्यौरा भी मांगा था. आज पुलिस ने हाई कोर्ट को जानकारी देते हुए बताया कि उन्होंने 36 डेरों को सील करने का काम शुरु कर दिया गया है.

बता दें कि कल हाई कोर्ट ने कहा था कि इस हिंसा में हुए नुकसान की भरपाई राम रहीम की संपत्ति जब्त करके की जाए.

आपको बता दें कि इस केस में फैसला आने के बाद पंजाब, हरियाणा में राम रहीम के समर्थक बेकाबू हो गए. राम रहीम के समर्थक कोर्ट परिसर के पास सुनवाई के पहले से ही मौजूद थे. फैसला आते ही उनके समर्थकों ने पुलिस पर पथराव करना शुरू कर दिया. आलम ये था कि पुलिस पर उनकी गुंडागर्दी भारी पड़ी. बेकाबू हुए समर्थकों को पुलिस काबू में ना ला सकी और इस हिंसा में अब तक कुल 31 लोगों की मौत हो चुकी है.

 

 
Have something to say? Post your comment
More Chandigarh

बुद्धिराजा की मुश्किलें बढ़ीं, बोर्ड लगाने पर दर्ज होगी एफआइआर

हरियाणा कांग्रेस में गुटबाजी तेज, एक-दूसरे से आगे निकलने की होड़ में हुड्डा-तंवर

हरियाणा डीजीपी, आईजी समेत अन्य को हाईकोर्ट का नोटिस जारी

क्या हरियाणा में फिर हो सकेंगे छात्र संघ चुनाव ?

‘अमीर’ BPL कार्ड धारकों पर कसेगा शिकंजा, सरकार ने अपनाया ये तरीका

सरकार का नया फरमान : छुट्टी पर गए IAS मोबाइल बंद रखेंगे तो होगी कार्रवाई

गलत तरीके से नक्शे पास करने पर संयुक्त आयुक्त समेत 5 अधिकारियों पर गिरेगी गाज

हनीप्रीत चंडीगढ़ के पास मोहाली में पकड़ी गई, पुलिस ने की पुष्टि

मोहाली : वरिष्ठ पत्रकार केजे सिंह और उनकी मां घर में मृत पाए गए, हत्या की आशंका

जेल में मिला बलात्कारी बाबा राम रहीम को ये काम

 
 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech