Latest :
कर्नाटक में सरकार बनी तो लड्डू बांटकर मनाई खुशीसबसे कम उम्र के प्रधानमंत्री बनने वाले व्यक्ति थे भारत रत्न स्वर्गीय राजीव गांधी : कृष्ण अत्रीराजीव जी के विचारों को नहीं हरा पाएंगे देश बांटनेवाले - लखन सिंगलाऐसी प्रतियोगिताओं से बढ़ती हैं बच्चों की स्मरण शक्ति : सुमन बालाविद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल में बच्चों ने इंज्वाय की समर पार्टीपूर्व पार्षद एवं कांग्रेस डेलीगेट लखन कुमार सिंगला ने आंदोलनरत कर्मचारियों को दिया समर्थनपत्रकार उत्पीडऩ के विरोध में फरीदाबाद के पत्रकारों का धरनापरम श्रद्धेय महामँडलेश्वर गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज करेंगे गीता सत्संगजनता के मन में जात पांत का जहर घोल रही भाजपा - लखन सिंगलाGST का गोरखधंधा
Chandigarh

सरकार का नया फरमान : छुट्टी पर गए IAS मोबाइल बंद रखेंगे तो होगी कार्रवाई

November 04, 2017 11:51 AM

Star Khabre, Chandigarh; 04th October : अफसरों की कमी से जूझ रही प्रदेश सरकार ने छुट्टी पर जाकर मोबाइल फोन स्विच ऑफ रखने वाले अधिकारियों पर शिकंजा कस दिया है। प्रशासनिक कार्यों में अड़चनों को देखते हुए मुख्य सचिव कार्यालय ने सभी आइएएस और एचसीएस अधिकारियों को लिखित निर्देश दिया है कि अवकाश पर जाने से पहले ही अर्जी पर अपनी लोकेशन और निजी संपर्क नंबर की पूरी जानकारी दें।

सरकार को इस संबंध में लगातार शिकायतें मिल रहीं थी। ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं जब अधिकारी के छुट्टी पर जाने के बाद पीछे काम कर रही टीम या वरिष्ठ अधिकारियों को उनसे संपर्क साधने में पसीने छूट गए। ऐसे में जरूरी कार्य तक अटक जाते हैं। इससे निपटने के लिए मुख्य सचिव डीएस ढेसी ने फिर से गाइडलाइंस जारी की है। इसके तहत अफसरों को आकस्मिक या अर्जित अवकाश की अर्जी में अपना मोबाइल नंबर, ई-मेल एड्रेस, घर या रुकने का पता बताना होगा।

हरियाणा में आइएएस और एचसीएस अधिकारियों की भारी कमी है। एक-एक अधिकारी के पास कई-कई विभागों का प्रभार है। इन विभागों के दफ्तर भी एक जगह नहीं है, जिस कारण अफसर एक जगह टिककर काम नहीं कर पा रहे है। इस तरह इनके छुट्टी पर रहने के दौरान मोबाइल पर संपर्क नहीं होने से एक साथ कई महकमों का काम ठप हो जाता है।

212 आइएएस में से 141 कार्यरत, इनमें भी 18 प्रतिनियुक्ति पर

हरियाणा में 212 आइएएस अफसरों का काडर है जिनमें से 148 सीधे भर्ती किए जाते हैं और 64 को पदोन्नत कर आइएएस बनाया जाता है। वर्तमान में हरियाणा में सिर्फ 141 आइएएस ही सेवाएं दे रहे हैं। इनमें से भी 18 अफसर प्रतिनियुक्ति पर दूसरे राज्यों में भेजे गए हैं जिससे इनकी सेवाएं हरियाणा को नहीं मिल रही। राज्य के बार-बार अनुरोध के बावजूद इन्हें वापस हरियाणा नहीं भेजा जा रहा है। कुछ अफसर खुद ही वापस लौटने को तैयार नहीं है।

एचसीएस का काडर बढ़ा, पुराने पद भी खाली 

एचसीएस अफसरों का काडर 212 से बढ़ाकर 300 किया जा चुका, लेकिन बढ़ाए गए पदों पर नियुक्तियां अभी तक नहीं हो पाई हैं। वर्तमान में 197 एचसीएस ही काम कर रहे है। सीनियर अफसरों की कमी के कारण जहां मौजूदा अधिकारियों पर कामकाज का बोझ बढ़ रहा है, वहीं सरकार को अपनी योजनाओं के क्रियान्वयन में भी तमाम दिक्कतें आ रही हैं।

 
Have something to say? Post your comment
More Chandigarh

हरियाणा में बढ़ रहा भ्रष्ट अफसरों में खौफ, फिर भी राहत नहीं

हरियाणा कैबिनेट में किसी भी समय हो सकता है बड़ा फेरबदल

हरियाणा में 300 करोड़ का चावल घोटाला, 21 राइस मिलर्स पर केस, कई अफसरों भी नपेंगे

हरियाणा सरकार के मंत्री जल्द होंगे पावरफुल, जाने क्या मिलेंगे अधिकार ?

मनोहर कैबिनेट में सब कुछ ठीक नहीं, बिना डिनर किए बैठक से चले गए अनिल विज ?

गरीब बच्‍चों को मुफ्त दाखिला देने से निजी स्कूलों का इनकार

सिविल सर्जनों की सुस्ती से दवाओं का पैसा लौट रहा सरकारी खजाने में, भटक रहे मरीज

हरियाणा में समय से पहले नहीं होंगे विधानसभा चुनाव : मनोहर लाल

राष्ट्रीय कांग्रेस में बढ़ा हरियाणा का दबदबा, हुड्डा सहित चार नेताओं के बड़ी जिम्मेदारी

हरियाणा में अब बच्चियों के दुष्कर्मियों को मिलेगी फांसी, कानून में संशोधन का प्रस्ताव मंजूर

 
 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech