Latest :
स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य जी ने दिया राजेश नागर की बेटी को आशीर्वादस्टार खबरें सर्वे : लगभग 250 वोटरों से जानी उनकी रायहूं..मैं हरियाणा का मुख्यमंत्री हूं : बिना नंबर प्लेट बुलैट चलाना मेरी शानस्टार खबरें का सबसे बड़ा सर्वे : क्या कह रही है फरीदाबाद विस की जनता? जानने के लिए पढ़ेनगर निगम में बड़े पैमाने पर इंजीनियरों के तबादलेभूपेन्द्र सिंह हुड्डा के पैर की हड्डी टूटीअमित शाह के बेटे को भी बेचने चाहिए पकौड़े : कृष्ण अत्रीफरीदाबाद का सबसे बड़ा सर्वे : स्टार खबरें फरीदाबाद में करेगा अबतक का सबसे बड़ा सर्वेये कागज की कश्ती वो बारीश का पानी जैसे गीत- गजलों ने बंधा समां अमित शाह का हरियाणा दौरा टालने की सलाह दी खुफिया एजेंसियों ने
Haryana

अमित शाह का हरियाणा दौरा टालने की सलाह दी खुफिया एजेंसियों ने

February 10, 2018 07:23 PM

Star Khabre, Haryana; 10th February : हरियाणा में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की रैली को लेकर टकराव की स्थिति बन गई है। सत्तारूढ़ भाजपा जहां जींद रैली की तैयारियों में जी-जान से जुटी है, वहीं जाटों के साथ-साथ इनेलो और कांग्रेस रैली के विरोध पर आमादा हैं। शाह 15 फरवरी को जींद में रैली करेंगे। खुफिया एजेंसियों को आशंका है कि एक बार फिर हरियाणा के हालात बिगड़ सकते है। उन्होंने सरकार को शाह का दौरा टालने की सलाह दी है। 

भाजपाई करीब एक लाख मोटरसाइकिलों के जरिए जींद रैली में पहुंचेंगे। भाजपाइयों की बाइक रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूरी हो चुकी और जाट ट्रैक्टर-ट्रालियों का रजिस्ट्रेशन कर रहे है। हरियाणा सरकार ने सभी पुलिस व प्रशासनिक कर्मचारियों की छुट्टियां रद कर दी है। राज्य सरकार ने केंद्र से 150 अद्र्धसैनिक बलों की कंपनियां पहले ही मांग रखी है। सरकार के पास रिपोर्ट पहुंची है कि जाट रैली स्थल के रास्तों पर पशु भी छोड़ सकते है।

उधर, अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति के नेता यशपाल मलिक ने उसी स्थान के आसपास जाटों की रैली का एलान कर दिया है, जहां अमित शाह की रैली होनी है। इससे टकराव होगा। दूसरी तरफ भाजपा की बाइक रैली से होने वाले प्रदूषण के मद्देनजर नेशनल ग्र्रीन ट्रिब्यूनल में इसे चुनौती दी गई है। इस पर 13 फरवरी को सुनवाई होनी है। याचिका में कहा गया है कि बाइक रैली के जरिए प्रदूषण फैलेगा।

जाटों के साथ समझौते के प्रयास, गृह सचिव से ली गई रिपोर्ट 

केंद्रीय गृह सचिव माहौल को लेकर हरियाणा के गृह सचिव एसएस प्रसाद से लगातार फीडबैक ले रहे हैं। सरकारी स्तर पर जाट नेताओं से समझौते के प्रयास किए जा रहे है। केंद्र सरकार ने हरियाणा को हरसंभव सहयोग का भरोसा दिलाया है। केंद्र ने हरियाणा की अद्र्ध सैनिक बलों की डेढ़ सौ कंपनियों की मांग को स्वीकार कर लिया है। शुक्रवार को हरियाणा के गृह सचिव एसएस प्रसाद ने दिल्ली जाकर समूचे प्रकरण पर केंद्रीय गृह सचिव समेत अन्य अधिकारियों के साथ मंथन किया।

जींद रैली से एक दिन पहले मोर्चा संभाल लेंगे अद्र्धसैनिक बल

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने हरियाणा सरकार को भरोसा दिया है कि 14 फरवरी की शाम तक अद्र्धसैनिक बल अपना मोर्चा संभाल लेंगे। केंद्र ने हरियाणा की मांग को मौखिक रूप से स्वीकार करते हुए कहा है कि अद्र्ध सैनिक बलों की कुछ कंपनियों को विकल्प के तौर पर भी रखा जाएगा, जिन्हें जरूरत के अनुसार तुरंत घटनास्थल पर भेजा जाएगा। इस काम के लिए हवाई मार्ग का इस्तेमाल भी किया जा सकता है।

बेहतर ट्रैक रिकार्ड वाले अधिकारियों को सौंपी जाएगी जिम्मेदारी

केंद्र ने अतीत की गलतियों से सबक लेते हुए हरियाणा सरकार को निर्देश दिए है कि संवेदनशील जिलों में बेहतर ट्रैक रिकार्ड वाले अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी जाए। जिला पुलिस अद्र्धसैनिक बलों की मदद करेगी। हरियाणा पुलिस की प्रवक्ता एवं आइजी ममता सिंह के अनुसार कानून व्यवस्था बिगडऩे नहीं दी जाएगी। पूरी स्थिति पर निगाह रखी जा रही है। केंद्र से मिलने वाले अद्र्धसैनिक बलों का इस्तेमाल समय और जरूरत के हिसाब से किया जाएगा।

 
Have something to say? Post your comment
More Haryana
 
 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech