Latest :
Corona virus : सुप्रीम कोर्ट का आदेश, 7 साल तक सजा पाए कैदियों को मिल सकती है पेरोलतमिल एक्टर और डायरेक्टर विसू का 74 की उम्र में निधन, लंबे समय से थे बीमारसेंसेक्स में 10फीसदी गिरावट की वजह से लोअर सर्किट लगा, 45 मिनट के लिए रुकी ट्रेडिंग, 10 दिन में दूसरी बारपूर्व कीवी कोच ने मुंबई की खाली सड़कें देख जताई हैरानी, पीएम मोदी बोले- जनता तैयार हैजनता कर्फ्यू के दिन भी शाहजमाल धरना जारी, महिलाएं नहीं मानींचंडीगढ़ में रविवार को एक ही पाॅजिटिव केस आया, 15 की रिपोर्ट नेगेटिवदो कैंसर पीड़िताें का बीमा कराया, दोनों की मौत के बाद फर्जी रिपोर्ट दिखाकर लिया 98 लाख का क्लेमनिर्भया के दोषियों को फांसी देकर उच्चतम न्यायालय ने किया न्याय : कृष्ण अत्रीकैसे तय समय पर होंगे ओलंपिक जब ज्यादातर क्वालिफाइंग टूर्नामेंट हो चुके हैं रद्दसेंसेक्स में 500 अंकों से ज्यादा की तेजी, निफ्टी 8,200 के स्तर से ऊपर
National

निर्भया केसः जेल कर्मचारियों को बनाया दोषी, कपड़े बदलकर फांसी घर तक ले गए, फिर हुआ डमी ट्रायल

March 18, 2020 10:41 AM

Star Khabre, National; 18th March : निर्भया के दोषियों की फांसी में अब कुछ ही समय बचे हैं। इसी बीच बुधवार सुबह तिहाड़ जेल में पवन जल्लाद ने डमी के साथ फांसी का ट्रायल किया। इसके लिए मंगलवार शाम को जेल पहुंचते ही जल्लाद ने फांसी घर का मुआयना किया था, साथ ही दोषियों के गले का माप लिया था। इस बार हुए फांसी के ट्रायल के लिए जेल कर्मचारियों की मदद ली गई। जेल के चार कर्मचारियों को आज सुबह दोषियों की तरह की तैयार किया गया। फिर उनके साथ बाकी सारी प्रक्रिया की गई, जो फांसी के दिन दोषियों के साथ होगी। उन्हें निर्धारित समय के अंदर फांसी घर तक लाया गया, जिसके बाद जल्लाद ने असली दोषियों की डमी को फंदा पहनाया और फांसी दे दी।

मालूम हो कि निर्भया के चारों दोषी मुकेश सिंह, पवन गुप्ता, विनय शर्मा और अक्षय सिंह को 20 मार्च को फांसी होनी है। इसके लिए अस बार जल्लाद को फांसी की तारीख से तीन दिन पहले ही जेल बुलाया गया है। मंगलवार दोपहर बाद पवन जल्लाद मेरठ से जल्लाद तिहाड़ जेल पहुंच गया था। इससे पहले मंगलवार को भी मुकेश ने अपनी फांसी टालने के लिए एक दांव चला था, जो विफल रहा। मुकेश ने वकील एमएल शर्मा के माध्यम से हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। उसमें दावा किया गया था कि वह 17 दिसंबर 2012 को राजस्थान से गिरफ्तार हुआ था। वह तो वारदात वाले स्थल पर घटना के वक्त था भी नहीं। ऐसे में वह इस केस में दोषी नहीं है। हालांकि इस दलील को भी कोर्ट ने खारिज कर दिया है। 

वहीं दोषी मुकेश कुमार की मां ने भी मंगलवार को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) से उसकी फांसी की सजा पर रोक लगाने की गुहार लगाई थी। हालांकि अयोग ने इस मांग को यह कहते हुए नामंजूर कर दिया कि यह उसके अधिकार क्षेत्र से बाहर है।

इससे पहले दोषी मुकेश के वकील एपी सिंह ने एनएचआरसी से अपील की थी। उसके बाद उन्होंने पत्रकारों से कहा था कि हमने 20 मार्च की फांसी पर रोक लगाने की मांग की है, क्योंकि यह न्याय की हत्या है। 

जेल पहुंचते ही जल्लाद की हुई कोरोना जांच
निर्भया के चोरों दोषियों को फांसी के तख्ते पर चढ़ाने के लिए मंगलवार को तिहाड़ जेल पहुंचे जल्लाद को कोरोना जांच से गुजरना पड़ा। जेल के भीतर जाने से पहले उसकी थर्मल स्कैनर से जांच के साथ अन्य शारीरक जांच की गई। जेल के अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि जल्लाद पूरी तरह से स्वस्थ है।

 
Have something to say? Post your comment
More National

जनता कर्फ्यू के दिन भी शाहजमाल धरना जारी, महिलाएं नहीं मानीं

कोरोना का खौफ: मस्जिदों में लपेटी गईं चटाइयां, लोगों से घर पर नमाज पढ़ने की अपील

संसद पहुंचे पूर्व चीफ जस्टिस गोगोई, आज राज्यसभा सदस्य के रूप में लेंगे शपथ

लापरवाही : तीन दिन दिल्ली में बदलता रहा होटल, राजधानी एक्सप्रेस से भुवनेश्वर पहुंचा कोरोना

यूपी के 11 जिलों में सिनेमा हॉल, मल्टीप्लेक्स, स्विमिंग पूल, क्लब, डिस्को और जिम 31 मार्च तक बंद

राजस्थान में ट्रक और जीप की टक्कर में 11 लोगों की मौत, तीन घायल

थोड़ी देर में राज्यपाल से मिलेंगे कमलनाथ, राज्यसभा के लिए नामांकन भरने जाएंगे ज्योतिरादित्य सिंधिया

आज भोपाल जाएंगे सिंधिया, समर्थन में कई जिलाध्यक्षों समेत 10 हजार कांग्रेसियों का इस्तीफा

दिग्विजय का ट्वीट; सिंधिया को कभी साइडलाइन नहीं किया गया फिर भी मोदी-शाह की शरण में चले गए, उन्हें शुभकामना

शाहीन बागः गिरफ्तार आतंकी दंपती पर बड़ा खुलासा, ऐसे करते थे विदेशी आकाओं से संपर्क

 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech