Latest :
उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने सेक्टर 7 में किया पार्क के सौंदर्यकरण कार्य का शुभारंभसेहत का ख्याल रखने वाले जीवन में आगे अवश्य बढ़ते हैं- लखन सिंगलादशहरा पर्व : प्रशासन के साथ 14 सदस्यीय कमेटी मनाएगी दशहराश्री श्रद्धा रामलीला कमेटी में 50 फुट ऊंचे हवा में दिखाया संजीवनी पर्वत का दृश्य श्रीराम के आदर्शों पर चलें भारत के लोग - लखन सिंगलाभगवान ने हमें काबिल बनाने के लिए मानव जन्म दिया- स्वामी पुरुषोत्तमाचार्यदशहरा पर्व : नौ नामजद आरोपियों में से सात आरोपी पहुंचे नीमका जेलUP और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी का निधनदशहरा पर्व : 9 लोगों सहित अन्य पर मामला दर्ज, दुम दबाकर भागे राजेश भाटियादशहरा पर्व : जाने क्या हुआ सिद्धपीठ श्री हनुमान मंदिर और दशहरा ग्राउंड पर, पढ़े पूरी खबर
City Icon

सुरो की मल्लिका निभाएगी सीता का रोल

October 09, 2015 06:48 PM

Shikha Raghav, Star Khabre, Faridabad : फरीदाबाद की सुरो की मल्लिका युगन्धा वशिष्ठ एक बार फिर श्रद्धा रामलीला कमेटी के बैनर तले हो रही रामलीला में सीता का किरदार निभाते हुए नजर आएंगी। इससे पहले भी पिछले वर्ष युगन्धा सीता का किरदार निभा चुकी हैं। इतना ही नहीं युगन्धा ने पिछले वर्ष बेस्ट सीता अवार्ड भी जीता था। एक्टिंग के साथ-साथ युगंधा सुरों का भी अच्छा खासा ज्ञान रखती हैं। इसलिए यदि युगंधा को सुरो की मल्लिका कहा जाए तो शायद यह गलत नहीं होगा क्योंकि वह संगीत के क्षेत्र में फरीदाबाद का देशभर में नाम रोशन कर चुकी हैं।

 युगंधा ने बताया कि उसे बचपन से ही संगीत का शौक है। वह ढ़ाई वर्ष की उम्र से ही संगीत सीख रही है और स्टेज पर प्रस्तुति भी दे रही है। युगंधा ने अपनी पहली परफार्मेंस के बारे में स्टार खबरें की संवाददाता से हुई खास बातचीत में बताया कि वह जब ढ़ाई वर्ष की थी तो उन्होंने सेक्टर-49 में नपुर नाथ संस्थान के वार्षिक समारोह में अपनी पहली प्रस्तुति दी। उसने स्टेज पर दर्शकों के सामने शिव स्तुति को अपनी मधुर आवाज में पेश किया था। युगंधा ने बताया कि उनके संगीत के पहले गुरू उनके नाना एमके भारद्वाज हैं। युगंधा ने बताया कि उनके नाना अपने नुपर नाथ संस्थान में संगीत की चाह रखने वाले युवाओं को संगीत की शिक्षा देते हैं। बचपन से ही वह उनसे संगीत सीखती आ रही है। क्लासिकल संगीत में उनका रूझान है। 

अपनी अचिवमेंटस के बारे में चर्चा करते हुए युगंधा ने बताया कि 8 वर्ष की उम्र में उन्होंने संगम कला गु्रप में भाग लिया और लगातार दो वर्ष अपनी जीत दर्ज कराई। युगंधा वशिष्ठ ने 2010 में 10 वर्ष की उम्र में अपने सुरों के बल पर सारेगामापा संगीत शो में प्रतिभागी रहीं और टॉप 80 में शामिल हुई। जबकि वर्ष 2015 में युगंधा ने इंडियन आइडियल जूनियन में भाग लिया जिसमें वह टॉप 20 तक पहुंची और पूरे देश के सामने अपनी प्रतिभा दिखाई और फरीदाबाद का नाम रोशन किया। इससे पहले वर्ष 2013 में कुल्लू मनाली में आयोजित वाईस ऑफ हिमालय में भी युगंधा ने भाग लिया और अपनी जीत दर्ज कराई थी। युगंधा वशिष्ठ ने हाल ही में पिछले माह हरियाणा यूथ फेस्टिवल के तहत जिला स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लिया जिसमें वह विजेता रही और स्टेट प्रतियोगिता के लिए क्वालीफाई किया। अब दिसंबर में आयोजित होने वाले हरियाणा यूथ फेस्टिवल में वह प्रदेश स्तर पर भाग लेगी और फरीदाबाद का प्रतिनिधित्व करेगी।

युगंधा वशिष्ठ अपने सुरोके दम पर गायक सोनू निगम, यश चौपड़ा, उदित नारायण, महालक्ष्मी अय्यर, साजिद वाजिद, श्रेया घोषाल के साथ स्टेज शेयर कर चुकी है। 15 वर्षीय युगंधा वरिष्ठ फरीदाबाद एनआईटी-3 स्थित गीता बाल निकेतन स्कूल में 10वीं कक्षा की छात्रा है। संगीत और एक्टिंग में बेहतर प्रदर्शन करने वाली युगंधा स्कूल में पढ़ाई के क्षेत्र में भी अव्वल है। हाल ही में युगंधा को उनके स्कूल गु्रप तापती की वाइस गु्रप कैप्टन बनाया गया है। युगंधा वशिष्ठ सेक्टर-15 स्थित कम्यूनिटी सेंटर में होने वाली रामलीला में 11 अक्टूबर से अपने दर्शकों के सामने सीता बनकर आएंगी और अपनी कला का प्रदर्शन करेंगी।

 
Have something to say? Post your comment
More City Icon
 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech