Latest :
कर्नाटक में सरकार बनी तो लड्डू बांटकर मनाई खुशीसबसे कम उम्र के प्रधानमंत्री बनने वाले व्यक्ति थे भारत रत्न स्वर्गीय राजीव गांधी : कृष्ण अत्रीराजीव जी के विचारों को नहीं हरा पाएंगे देश बांटनेवाले - लखन सिंगलाऐसी प्रतियोगिताओं से बढ़ती हैं बच्चों की स्मरण शक्ति : सुमन बालाविद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल में बच्चों ने इंज्वाय की समर पार्टीपूर्व पार्षद एवं कांग्रेस डेलीगेट लखन कुमार सिंगला ने आंदोलनरत कर्मचारियों को दिया समर्थनपत्रकार उत्पीडऩ के विरोध में फरीदाबाद के पत्रकारों का धरनापरम श्रद्धेय महामँडलेश्वर गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज करेंगे गीता सत्संगजनता के मन में जात पांत का जहर घोल रही भाजपा - लखन सिंगलाGST का गोरखधंधा
City Icon

15 साल से श्रवण निभा रहे रावण का किरदार

October 10, 2015 12:25 PM

 Shikha Raghav, Star Khabre, Faridabad : पिछले 15 साल से श्रवण चावला लगातार रावण की भूमिका निभा रहे हैं। दशानन रावण रामलीला का सबके आकर्षण का किरदार होता है, इसलिए यह किरदार निभाना कोई आसान बात नहीं है लेकिन श्रवण चावला पिछले 15 सालों से इस किरदार को बखूबी निभाते हुए आ रहे हैं। श्रवण कुमार ने बताया कि रामलीला में रावण का किरदार एक अह्म किरदार है। सबका ध्यान रामलीला में लंका नरेश रावण की ओर ही होता है। इसलिए उन्हें यह किरदार निभाना अच्छा लगता है। श्रवण चावला श्रद्धा रामलीला कमेटी में न सिर्फ एक कलाकार हैं बल्कि वह कमेटी के वाईस प्रेजीडेंट भी हैं। 

सेक्टर-7 निवासी श्रवण चावला मूल रूप से पलवल के रहने वाले हैं। पलवल में ही श्रवण चावला ने अपनी स्कूली शिक्षा पूरी की। इसके बाद वह वर्ष 2000 में पलवल से फरीदाबाद से आ गए। जहां उन्होंने गारमेंट्स का बिजनेस शुरू किया। उन्होंने बताया कि पहले वह सेक्टर-7 में ही अपना व्यवसाय चलाते थे लेकिन 2006 में उन्होंने फरीदाबाद के पहले सबसे मॉल क्राउन प्लाजा में अपने शोरूम खोले। इस समय श्रवण चावला के क्राउन प्लाजा में तीन शोरूम हैं।

श्रवण चावला सफल बिजनेसमैन होने के साथ-साथ सफल संगीतकार और एक कलाकार भी हैं। श्रवण चावला ने बताया कि उन्हें बचपन से ही म्यूजिक का शौक था, इस कारण वह टीवी पर प्रसारित होने वाले म्यूजिक शो देखा करते थे।

 वर्ष 1993 में ज़ी टीवी पर अंताक्षरी म्यूजिक शो के लिए ऑडिशन की जानकारी दिखा रहे थे। ऑडिशन की जानकारी देख वह दिल्ली में ऑडिशन देने गए और सिलेक्ट हो गए। इसके बाद उन्होंने दूसरा पड़ाव मुंबई में ऑडिशन देकर पास किया। ऑडिशन पास करने के बाद मुंबई में ही ज़ी टीवी पर प्रसारित होने वाले अंताक्षरी कार्यक्रम के लिए शूटिंग हुई, जहां वह अंताक्षरी म्यूजिक शो के विनर भी बने। उन्होंने बताया कि वह पलवल से पहले लडक़े थे, जो इस तरह के शो में उस समय भाग लेने गए थे।श्रवण चावला ने इस प्रोग्राम के बाद कई म्यूजिक शो किए जोकि स्टार प्लस, सोनी जैसे चैनल पर प्रसारित हुए। इसके अलावा उन्होंने कई सीरियल भी किए जिसमें ज़ी टीवी पर प्रसारित होने वाला अमानत, डीडी मैट्रो पर  प्रसारित न्याय प्रमुख धारावाहिक है। न्याय धारावाहिक में श्रवण चावला ने मुख्य भूमिका निभाई, इसमें उन्हें एक डाक्टर के रूप में दिखाया गया था। इसके अलावा उन्होंने एक टेलिफिल्म हमसफर भी की है। इतना ही नहीं श्रवण चावला ने संगीत में रूचि रखते हुए फरीदाबाद, पलवल व दिल्ली में कई स्टेज शो भी किए हैं।

रामलीला में अपने सफर के बारे में चर्चा करते हुए श्रवण चावला ने कहा कि जब वह छोटे थे तो पलवल में उनके मौहल्ले में रामलीला होती थी। अपने पड़ोसियों व बड़े भाईयों को देखकर उन्हें भी रामलीला में भाग लेने का मन किया। तब से वह रामलीला में भाग लेते आ रहे हैं। पिछले आठ वर्षों से वह फरीदाबाद में श्री श्रद्धा रामलीला कमेटी के बैनर तले हो रही रामलीला में रावण की भूमिका निभा रहे हैं। इससे पहले वह पलवल में भी रावण भूमिका अदा कर चुके हैं। श्रवण चावला ने अपने परिवार के बारे में बताते हुए कहा कि बिजनेस हो या एक्टिंग का मंच उन्हें अपने परिवार से पूरा सहयोग मिलता है। उनकी पत्नी ज्योति चावला, बेटी चारवी चावला, बेटे कुणाल चावला का उन्हें पूरा सहयोग मिलता है। 

 
Have something to say? Post your comment
More City Icon
 
 
 
 
 
 
 
Copyright © 2017 Star Khabre All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech